अटकलों के बीच जितेंद्र तिवारी ने फिर किया ट्वीट, कहा- दीदी के साथ हैं, दीदी के साथ ही रहेंगे

29/12/2020,8:45:11 PM.

 

कोलकाता: आसनसोल नगर निगम के प्रशासक और तृणमूल जिला कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद से जितेंद्र तिवारी को लेकर अटकलों का बाजार बीच-बीच में गर्म हो रहा है। हालांकि तिवारी बार-बार यही कह रहे हैं कि वह दीदी के साथ हैं और दीदी के साथ ही रहेंगे। यानी वह ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस में अब भी हैं।

लेकिन सोमवार की शाम उन्हें उस होटल में देखा गया जहां बीजेपी के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय, सह प्रभारी अरविंद मेनन, प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष समेत अन्य पार्टी नेता बैठक करने पहुंचे थे। तिवारी अपनी पत्नी और बेटी के साथ कोलकाता के प्रसिद्ध होटल जे डब्ल्यू मेरियट के रेस्तरां में खाने के लिए पहुंचे थे। उन्होंने अपनी पत्नी द्वारा फेसबुक पर डाले गए होटल के फोटो को शेयर करते हुए लिखा कि कितने दिनों बाद परिवार के संग अच्छा समय बिताने का समय मिला है। जब जितेंद्र होटल से बाहर निकले तो उन्होंने मीडिया से बात करने से इनकार कर दिया। इधर बीजेपी की तरफ से भी अभी तक जितेंद्र तिवारी के संबंध में कोई बयान नहीं आया है। ऐसे में जितेंद्र तिवारी का उस होटल में होना जहां बीजेपी नेता मौजूद थे, उन अटकलों को फिर से हवा दे दिया है कि वह बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। 17 दिसंबर को उनके इस्तीफा देने के बाद यह पूरजोर से कहा जा रहा था कि जितेंद्र तिवारी बीजेपी में शामिल हो रहे हैं। लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हुआ है।

बहरहाल जितेंद्र तिवारी ने ताजा उठी अटकलों को दूर करने की कोशिश की है। उन्होंने इसके लिए फिर से सोशल मीडिया का सहारा लिया है। मंगलवार की सुबह उन्होंने ट्विट किया कि यह देखना बहुत तकलीफदेह बात है कि कुछ लोग मेरा संपर्क बीजेपी से जोड़ रहे हैं जो पूरी तरह से गलत है। मैं दीदी के साथ हूं, और पार्टी को मजबूत करने और दीदी के लिए अगले 48 घंटे के दौरान अपने सामर्थ्य के अनुसार मैं जमीनी स्तर पर सक्रिय रूप से काम करना शुरू करूंगा। इस ट्वीट के बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया जिसमें समाचार चैनेल आजतक का रिपोर्टर बोलपुर के उस बाउल गायक के साथ है जिसके घर अमित शाह ने भोजन किया था। जितेंद्र तिवारी ने लिखा है-एक शख्स दिल्ली से बंगाल आता है। बंगाल की संस्कृति का सम्मान करते हुए तस्वीरें सार्वजनिक करता है और जिसके यहाँ पहुँचता है, उस इंसान से सीधे मुँह बात तक नहीं करता है।

जितेंद्र तिवारी ने एक और ट्वीट किया जिसमें ममता बनर्जी की मंगलवार को बोलपुर में हुई पदयात्रा की तस्वीर है। उन्होंने लिखा है कि वीरभूम ने यह घोषणा कर दी है कि वह हमेशा गोडसे और उसके अनुयायियों की जगह टैगोर और बांग्ला को सपोर्ट करता है।

बहरहाल जितेंद्र तिवारी आसनसोल शिल्पांचल और बंगाल की सियासत में मिस्ट्री मैन बने हुए हैं। वे क्या करते हैं, उनका अगला कदम क्या होगा, इस पर सबकी निगाहें हैं। उन्हें लेकर तरह-तरह के जुमले गढ़ने वालों की कमी नहीं  है। उनके राजनीतिक भविष्य के खत्म होने तक की बातें कही जा रही हैं लेकिन जितेंद्र तिवारी ने पिछले ट्वीट में क्या कहा था, यह भी देखना लाजिमी है। उन्होंने शायराना अंदाज में लिखा था- आग में फूलने – फलने का हुनर जानते है, न बुझा हमको के जलने का हुनर जानते हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 4 =