अब जितेंद्र तिवारी ने अपनाया बागी तेवर, ममता सरकार पर लगाया आरोप

14/12/2020,1:33:06 PM.

 

कहा, राजनीतिक कारणों से आसनसोल केंद्रीय योजनाओं के लाभ से वंचित

आसनसोलः ऐसा लग रहा मानो तृणमूल कांग्रेस में नेताओं की बीच बागी तेवर अपनाने की होड़ सी लगी है। एक के बाद एक पार्टी में नेताओं के बागी तेवर अपना रहे हैं। अब तृणमूल विधायक और आसनसोल नगर निगम के प्रशासक जितेंद्र तिवारी ने पार्टी के खिलाफ हमला बोला है।

उन्होंने ममता सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए राज्य के शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम को पत्र लिखा है। पत्र में जितेंद्र तिवारी ने कहा कि केंद्र सरकार ने हमारे शहर आसनसोल को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चुना था। लेकिन राजनीतिक करणों से राज्य सरकार ने हमें इसकी सुविधा का लाभ नहीं लेने दिया और इससे हमें वंचित रखा गया।

जितेंद्र तिवारी ने पत्र में लिखा आसनसोल के एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में पैदा हुआ। पिछले कई वर्षों से इस शहर की स्थानीय निकाय के चेयरमैन और प्रशासक के रूप में जिम्मेदारियां निभा रहा हूं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट से आसनसोल को 2000 करोड़ रुपये से वंचित रखा गया है।

उनके अनुसार उन्हें राजनीतिक कारणों से केंद्र की कई परियोजनाओं से पैसा लेने से रोक दिया गया है। इसके कारण आसनसोल को नुकसान उठाना पड़ा है। पार्टी विधायक व आसनसोल नगर निगम के प्रशासक की इस टिप्पणी से सत्तारूढ़ पार्टी में हलचल मच गई है।

उल्लेखऩीय है कि सोमवार को भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने जितेंद्र तिवारी का उक्त पत्र ट्वीट किया है। हलांकि इसे लेकर जितेंद्र तिवारी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि मैंने राज्य के मंत्री को पत्र दिया था, वह गोपनीय है, लेकिन भाजपा ने इसे सार्वजनिक कर दिया जो ठीक नहीं है।

बता दें कि पार्टी के खिलाफ बोलने के अलावा जितेंद्र तिवारी ने रानीगंज टीडीबी कॉलेज तथा रानीगंज गर्ल्स कॉलेज के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। जितेंद्र तिवारी ने उच्च शिक्षा विभाग के निदेशक को अपना इस्तीफा भेजा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − twelve =