अभिषेक की चुनौती -‘अगर मैं वसूली का दोषी हूं तो फांसी के फंदे पर चढ़ा दो’

07/01/2021,8:09:07 PM.

कोलकाताः  पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और सांसद अभिषेक बनर्जी ने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा में किसी को उनका नाम लेने का साहस नहीं है। उन्हें ‘तोलाबाज भाइपो’ कहा जाता है। अगर वो उन्हें तोलबाजी का दोषी पाते हैं तो सार्वजनिक रूप से सीधे फांसी के फंदे चढ़ा दें।
दक्षिणी दिनाजपुर के गंगापुर में सभा को संबोधित करते हुए अभिषेक बनर्जी ने कहा कि वे लोग रोज-रोज ‘भाइपो-भाइपो और तोलेबाज’ कहकर मुझे बदनाम करने की कोशिश करते हैं लेकिन सीधे मेरा नाम नहीं लेते। उन्होंने कहा कि वे रोज मुझ पर हमला कर रहे हैं। वे कहते हैं कि जबरन भतीजे को हटाओ। मैंने पहले भी यह कहा है और मैं यहां कैमरों के सामने फिर से यही कह रहा हूं। यदि आप यह साबित कर सकते हैं कि मैं जबरन वसूली में शामिल हूं और यदि आप साबित कर सकते हैं कि मैं किसी गलत काम में शामिल हूं, तो आपको ईडी और सीबीआई को भेजने की जरूरत नहीं है। सार्वजनिक रूप से फांसी के फंदे पर चढ़ा दो, मैं मौत को गले लगा लूंगा।
उन्होंने कहा कि यदि मैं तोलाबाजी करता हूं, तो मेरे खिलाफ ईडी और सीबीआई को लगाना नहीं होगा। मेरे लिए फांसी मंच बना दें, मैं खुद मृत्यु वरण कर लूंगा, लेकिन मैं कहता हूं कैलाश विजयवर्गीय बाहरी हैं। कैलाश विजयवर्गीय का छोटा बेटा आकाश विजयवर्गीय गुंडा है। दिलीप घोष गुंडा है। अमित शाह बाहरी हैं। भाजपा के दिल्ली नेताओं में यदि दम है, तो मेरे खिलाफ केस करो और मुझे जेल भेजकर दिखाओ, यह साबित हो जाएगा कि कौन सच बोल रहे है और कौन झूठ बोल रहा है?”
अभिषेक बनर्जी ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा और कहा कि 2014 में पीएम बनने के बाद सात साल हो गए लेकिन उन्होंने देश में कोई बदलाव नहीं लाया। खुद दस लाख के सूट पहनने लगे और महंगी गाड़ियों में चलने लगे जबकि ममता बनर्जी 2011 में मुख्यमंत्री बनीं लेकिन आज भी सादी साड़ी और हवाई चप्पल में रहती हैं। उसी घर में रहती हैं, जहां पहले रहती थीं। उसी गाड़ी में चलती हैं, जिसमें पहले चलती थीं। मोदी और दीदी रिपोर्ट कार्ड पेश करें। मोदी सात सालों का और दीदी 10 साल का।
Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − four =