अभिषेक की पत्नी के खिलाफ सीमा शुल्क विभाग ने कलकत्ता हाईकोर्ट में दर्ज किया मामला

08/12/2020,7:15:59 PM.

कोलकाताः विदेशों से सोने की तस्करी के मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सांसद एवं भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजीरा नरुला बनर्जी की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। 2019 में, कलकत्ता उच्च न्यायालय ने सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल युवा मोर्चा के अध्यक्ष अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजीरा नरूला के पक्ष में फैसला सुनाया था। इसमें कहा गया था कि वह सीमा शुल्क कार्यालय के सामने पेश नहीं होंगी। हालांकि, कस्टम विभाग ने अब फिर से उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पहली सुनवाई के दौरान, न्यायमूर्ति आईपी मुखर्जी के नेतृत्व वाली खंडपीठ ने सीमा शुल्क अधिकारियों से पूछा “जब 16 मार्च को यह घटना हुई थी तो रुजीरा नरूला के खिलाफ शिकायत दर्ज करने में इतना समय क्यों लगा?” तब बेंच ने कहा था कि रूजीरा 31 जुलाई तक सीमा शुल्क के समक्ष पेश नहीं होंगी।

अब सीमा शुल्क विभाग ने न्यायमूर्ति राजर्षि भारद्वाज की एकल पीठ के आदेश को चुनौती देने वाली खंड पीठ में मामला दर्ज किया है। जस्टिस इंद्रप्रसन्ना मुखर्जी की डिवीजन बेंच में मामले की सुनवाई में कस्टम विभाग की ओर से पेश वकील भास्कर प्रसाद बनर्जी ने अपना केस पेश करने के लिए दो हफ्ते का समय मांगा। लेकिन अदालत ने सवाल किया कि मामला लंबे समय से चल रहा है। उसके बावजूद, अधिक समय क्यों दें? हालांकि डिवीजन बेंच ने अगले गुरुवार (17 दिसम्बर) तक सीमा शुल्क विभाग को समय दिया। उस दिन मामले की सुनवाई होगी।

मालूम हो कि यह मामला 2019 में शुरू हुआ था। 17 मार्च, 2019 को, रूजीरा अपनी बहन मेनका गंभीर के साथ बैंकॉक से कोलकाता लौट रही थीं। कलकत्ता उच्च न्यायालय में दायर एक मामले में, रूजीरा ने दावा किया कि कोलकाता हवाई अड्डे पर उतरने के बाद, सीमा शुल्क अधिकारियों ने उनसे रिश्वत की मांग की। जब उन्होंने भुगतान करने से इनकार कर दिया, तो उन्हें सामान के साथ हवाई अड्डे के रेड चैनल पर ले जाया गया। वहां, उनके सामान को पहले एक एक्स-रे मशीन द्वारा जांचा गया और फिर जब्त कर लिया गया। दावा है कि उनके कब्जे से कोई भी अवैध सामान या प्रतिबंधित पदार्थ नहीं मिला है। उन्होंने आरोप लगाया कि सीमा शुल्क अधिकारियों ने उनसे पैसे लेने की कोशिश की। बाद में बताया गया था कि रूजीरा के पास कथित तौर पर दो किलो अवैध सोना था। वहां से निकलकर रूजीरा नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पुलिस स्टेशन गई थीं और सीमा शुल्क अधिकारियों के खिलाफ जबरन वसूली और धमकी देने की शिकायत दर्ज कराई थी।

22 मार्च, 2019 को, सीमा शुल्क के सहायक आयुक्त एसके विश्वास ने एनएससीबीआई पुलिस स्टेशन में रूजीरा बनर्जी और मेनका गंभीर के खिलाफ धमकी की शिकायत दर्ज कराई। कुछ दिनों बाद, 26 मार्च को दोनों को सीमा शुल्क कार्यालय में उपस्थित होने के लिए बुलाया गया। उच्च न्यायालय की एक एकल पीठ ने रूजिरा के मामले के मद्देनजर सीमा शुल्क विभाग द्वारा जारी समन को खारिज कर दिया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve + 11 =