कृषि कानून के खिलाफ राज्य में जगह-जगह सड़कों पर उतरे बंद समर्थक

08/12/2020,11:39:06 AM.

कोलकाता: केंद्रीय कृषि अधिनियम के विरोध में किसानों ने देशव्यापी भारत बंद का आह्वान किया गया है। किसानों के इस आंदोलन को सोलह राजनीतिक दलों ने भी समर्थन दिया है। इनमें कांग्रेस के अलावा वामपंथी दल, समाजवादी पार्टी, राजद, डीएमके, शिवसेना, बसपा, आम आदमी पार्टी आंदोलन का समर्थन कर रही हैं। वहीं किसान आंदोलन को नैतिक समर्थन देते हुए ब्लाक स्तर पर तृणमूल कांग्रेस का धर्ना प्रदर्शन का कार्यक्रम है।

कृषि कानून के खिलाफ कोलकाता, हावड़ा, हुगली, उत्तर व दक्षिण 24 परगना व उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों के अलावा लगभग पूरे राज्य में जगह-जगह विरोध हो रहा है। सुबह से महानगर के विभ्न्न इलाकों में वामो समर्थक सड़कों पर उतर आए हैं। इधर हावड़ा के विभ्न्न इलाकों में भी विरोध जारी है। ग्रामीण हावड़ा में भी विरोध हो रहा है। हावड़ा में ट्रेनें भी रोकी गई हैं। वहीं हुगली व रिसड़ा स्टेशनों पर भी वाम समर्थकों ने ट्रेनें रोकी। आसनसोल में मिनी बस सेवाएं बंद हैं। सरकारी बस चालकों को बंद समर्थकों ने बस नहीं चलाने का अनुरोध किया गया है। बर्धमान में भी बंद समर्थक सुबह से सड़कों पर उतर गए हैं।

इधर उत्तर बंगाल के सिलीगुड़ी और अलीपुरदुआर में भी बंद का असर सुबह से दिख रहा है। सड़कों पर बसें कम चल रही हैं। लोग भी सड़क पर आम दिनों की तुलना में कम दिख रहे हैं। उल्लेखनीय है कि किसान आंदोलन के नैतिक समर्थन में तृणमूल का ब्लाक स्तर पर धरना चल रहा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 5 =