ममता का आऱोप, केंद्रीय कृषि कानून के कारण बढ़ी आलू और प्याज की कीमतें

23/11/2020,8:12:06 PM.

 

कोलकाता: मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को आरोप लगाया है कि केंद्र के नए कृषि कानून की वजह से देशभर में आलू प्याज की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है।

24 नवंबर को ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वर्चुअल बैठक होनी है। उसके पहले सोमवार को बांकुड़ा में प्रशासनिक बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने नरेंद्र मोदी नित केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र की गरीब विरोधी नीतियों के कारण महंगाई बढ़ रही है।

ममता ने कहा कि मानसून सत्र के दौरान तीन कृषि कानूनों को पारित किया गया। उनमें से अति आवश्यक सामग्री से चावल, दाल, आलू और प्याज को बाहर रखा गया है। इसी वजह से आलू प्याज और अन्य चीजों की कीमत बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार किसानों से सबकुछ छीन लेना चाहती है। आलू लूट रही है, प्याज लूट रही है। अगर दो-तीन महीने तक कोई कदम नहीं उठाया गया तो आलू प्याज की कीमत आसमान छूने लगेगी।

भाजपा ने ममता को ही ठहराया दोषी
मुख्यमंत्री के इस बयान पर पलटवार करते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने ममता बनर्जी की सरकार को ही राज्य में आलू प्याज के दाम बढ़ने के लिए दोषी ठहराया है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के हुगली और बर्दवान में सबसे ज्यादा आलू की खेती होती है। इसका नियंत्रण तो राज्य सरकार के हाथ में है। तृणमूल कांग्रेस के लोग ही आलू का स्टोर चलाते हैं और गैरकानूनी तरीके से जमाखोरी करते हैं। दरअसल ममता बनर्जी की सरकार सब्जियों की कीमत बढ़ाकर विधानसभा चुनाव का खर्च उठाना चाहती है। मोदी सरकार के माथे आरोप लगाकर वह अपनी जिम्मेदारियों से मुक्त नहीं हो सकतीं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − three =