केन्द्रीय गृहमंत्री के “पिछड़ा बंगाल” के दावे का टीएमसी ने किया खंडन

22/12/2020,4:52:41 PM.

 

पत्रकार वार्ता में टीएमसी सांसद सौगत राय ने आंकड़ों के साथ बंगाल को बताया बेहतर

कोलकाताः केंद्रीय गृहमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह के पश्चिम बंगाल को शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्योग समेत अन्य मोर्चे पर पिछड़ा बताने के दावे का सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (तृणमूल) ने खंडन किया है। मंगलवार को तृणमूल भवन में तृणमूल के वरिष्ठ नेता और दमदम से सांसद सौगत रॉय ने कई आंकड़ों के साथ दावा किया कि बंगाल हर एक मामले में देश के बाकी राज्यों की तुलना में आगे है।

दरअसल, एक दिन पहले भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के बारे में केवल झूठ बोला है। बनर्जी ने कहा था कि वह मंगलवार को अमित शाह के झूठ का परत दर परत खुलासा करेंगी, लेकिन उनकी जगह सौगत रॉय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार के आंकड़े जनता के सामने रखे।

पत्रकार वार्ता के दौरान रॉय ने बताया कि बंगाल में जीडीपी में 10 वर्ष में 53 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। औद्योगिक विकास के मामले में देश का पांचवां सबसे बड़ा राज्य बंगाल है। उन्होंने कहा कि ‘दुआरे सरकार’ पहले ही एक करोड़ लोगों तक पहुंच चुकी है। केंद्र ने अम्फन आपदा से निपटने में पर्याप्त सहायता नहीं दी। राज्य को केंद्र से 15 हजार 623 करोड़ रुपये मिलने बाकी हैं। राय ने बताया कि प्रति व्यक्ति आय के मामले में बंगाल आगे है। औद्योगिक क्षेत्र में उत्पादन 70 प्रतिशत बढ़ा है। औद्योगिक विकास दर 3.1 प्रतिशत है।‌ औद्योगिक विकास दर के मामले में बंगाल देश में पांचवें स्थान पर है। जूट उद्योग में बंगाल सबसे आगे है। जूट उद्योग को बढ़ावा देने के लिए, राज्य सरकार ने 60 करोड़ जूट बैग खरीदने का फैसला किया है। ये जूट बैग चावल पैकेजिंग के लिए खरीदे जाएंगे।‌ सेवा क्षेत्र में 72 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पिछले 10 सालों में पश्चिम बंगाल में एक भी नया निवेश नहीं आने के बावजूद सौगत रॉय ने दावा किया कि राज्य में विदेशी निवेश 24 गुना बढ़ा है। 9 मिलियन घरों में बिजली पहुंच गई है। 1116 किमी ग्रामीण सड़कें बनाई गई हैं।

स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरी का दावा
सौगत ने राज्य के स्वास्थ्य क्षेत्र में भी बेहतरी का दावा किया। उन्होंने कहा कि 1.4 करोड़ परिवारों को स्वास्थ्य साथी का लाभ मिला है। अस्पताल के बिस्तरों की संख्या बढ़ाने में बंगाल सबसे आगे है। नर्सों की संख्या में 51 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उन्होंने यह भी दावा किया कि राज्य में 30 नए विश्वविद्यालय हैं। 100 प्रतिशत स्कूलों में बिजली पहुंच गयी है। यह भी दावा किया कि राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध कम हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि दो दिवसीय दौरे पर बंगाल पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को आरोप लगाया था कि बंगाल औद्योगिक, शैक्षणिक और स्वास्थ्य क्षेत्र में देश का सबसे पिछड़ा राज्य बन चुका है। उन्होंने कहा था कि महिला मुख्यमंत्री होने के बावजूद पूरे राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध में शर्मनाक तरीके से बढ़ोतरी हुई है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 1 =