चीनी वस्तुओं के बॉयकट का मजाक उड़ने वाले शाओमी चीफ के बयान अपमानजनकः कैट

27/06/2020,7:58:15 PM.

नई दिल्‍ली (एजेंसी)। कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने शनिवार को चीनी स्मार्टफोन निर्माता शाओमी के चीफ मनु कुमार जैन के उस बयान की कड़ी निंदा की है, जिसमें उन्होंने चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के अभियान का मजाक उड़ाते हुए कहा है कि ये केवल सोशल मीडिया पर ही चल रहा है। कैट ने इस बयान को बेहद असंवेदनशील और अपमानजनक करार दिया है। साथ ही कहा है कि ये बयान देश के करोड़ों भारतीयों की भावनाओं को गहरी चोट पहुंचाई है।

कैट ने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा देश भारतीय सैनिकों के खिलाफ चीनी क्रूरता के कारण बेहद गुस्से में है। ऐसे में मनु जैन इस स्तिथि में भी अपने चीनी आकाओं को खुश करने में लगे हैं। कारोबारियों के शीर्ष संगठन कैट ने शाओमी प्रमुख के बयान की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि ये देश की मौजूदा भावना के खिलाफ है और एक भारतीय के रूप में उनको अपने बड़बोलेपन की बजाय मौन रहना ज्यादा बेहतर होता।

वहीं, दूसरी ओर कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और रवीना टंडन को चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के अभियान का अप्रतिम समर्थन देने के लिए धन्यवाद दिया है। दरअसल इन दोनों अभिनेत्रियों ने भारतीय लोगों से चीनी वस्तुओं की जगह भारतीय उत्पादों का उपयोग करने की अपील की है।

खंडेलवाल ने कहा कि हम बॉलीवुड एवं क्रिकेट जगत के अन्य सितारों से भी इस अभियान से जुड़ने की प्रतिक्षा कर रहे हैं। साथ ही उम्मीद है कि अन्य लोग भी कंगना रनौत और रवीना टंडन का अनुसरण कर इस मुद्दे पर देश के लोगों की भावनाओं से जुड़ेंगे।

उन्‍होंने कहा कि जैन और उन सभी लोगों को जो महसूस करते हैं कि चीनी वस्तुओं के बॉयकॉट अभियान का कोई मायने नहीं है, बहुत जल्द एहसास होगा कि वे स्थिति का आकलन करने में कितने गलत थे। उन्‍होंने कहा कि कैट ने चीनी सरकार के मुखपत्र अखबार द ग्लोबल टाइम्स की चुनौती को पहले ही स्वीकार कर चुका है और अब शाओमी प्रमुख के बयान को भी कैट ने एक चुनौती के रूप में स्वीकार किया है।

खंडेलवाल ने कहा कि जल्द आने वाला वक्‍त उन्हें बताएगा कि ये अभियान केवल सोशल मीडिया पर ही नहीं, बल्कि देश के कोने-कोने में है। उन्‍होंने कहा कि वो दिन ज्यादा दूर नहीं है, जब भारत के कुछ बड़े त्योहार राखी, जन्माष्टमी, नवरात्रि और दिवाली आगामी कुछ महीनों में होंगे और चीनी वस्तुओं के बहिष्कार की बानगी इन त्योहारों में साफ तौर पर दिखाई देगी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 2 =