टीम में अतिरिक्त बल्लेबाज की जरूरत नहीं : स्टीफन फ्लेमिंग

08/10/2020,12:39:45 PM.

अबू धाबी (एजेंसी)। कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के खिलाफ मिली 10 रन की हार के बावजूद चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा है कि टीम में अतिरिक्त बल्लेबाज की जरूरत नहीं है, क्योंकि पहले से ही उनके लाइनअप में पर्याप्त बल्लेबाज हैं।

केकेआर द्वारा दिये गए 168 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सीएसके की टीम एक समय 12वें ओवर में 1 विकेट पर 99 रन बनाकर सहज स्थिति में थी। उस समय शेन वॉटसन और अंबाती रायडू क्रीज पर मौजूद थे।

हालांकि, इसके बाद कमलेश नागरकोटी ने अंबाती रायडू को वापस पवेलियन भेज दिया और यहीं से मैच ने करवट ले ली। इसके बाद सीएसके के विकेट नियमित अंतराल पर गिरते रहे और परिणामस्वरूप दिनेश कार्तिक की अगुवाई वाली केकेआर ने 10 रन से जीत दर्ज की।

मैच के बाद आयोजित एक वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में फ्लेमिंग ने कहा, “हमें वैसे भी बहुत सारे बल्लेबाज मिले हैं, इसलिए मुझे लगता है कि छह बल्लेबाजों के साथ संतुलन काफी अच्छा है। ब्रावो आठवें नंबर पर हैं, हम उनका इस्तेमाल करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। मैं एक अतिरिक्त बल्लेबाज की ओर नहीं जाउंगा। हमारी टीम संयोजन में, सैम करन और ड्वेन ब्रावो बहुत अच्छे हैं। दोनों ऑलराउंडर अभी अच्छा कर रहे हैं। वॉटसन और फाफ भी अच्छी फॉर्म में हैं, इस लाइनअप में एक अंतरराष्ट्रीय बल्लेबाज को फिट करना बहुत मुश्किल है। शार्दुल और दीपक के साथ भारतीय आपको भारतीय गुणवत्ता मिली है। यह काफी अच्छी तरह से संतुलित टीम है, लेकिन हमारे पास जो अनुभव है, उसे देखते हुए हमें केकेआर के खिलाफ खेल जीतना चाहिए था।”

फ्लेमिंग से जब उनसे पूछा गया कि खेल में निर्णायक मोड़ क्या था और मैच सीएसके के हाथ से कब निकला, फ्लेमिंग ने जवाब दिया, “आदर्श रूप से आप चाहते हैं कि टीम के एक-दो खिलाड़ी पारी के अंत तक खेलें, यदि हमारे पास एक बल्लेबाज ऐसा होता, जिसने 75+ रन बनाए और अगले चार-पांच ओवरों के लिए साझेदारी जारी रख सकता, तो मैच अलग हो सकता था। सुनील नारायण के आखिरी के ओवरों ने हमारे लिए मैच मुश्किल कर दिया। कोलकाता ने डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की।”

केदार जाधव छठे स्थान पर सीएसके के लिए बल्लेबाजी करने आए और वह 12 गेंदों में 7 रन बनाकर नाबाद रहे। जाधव गेंद को सही तरीके से हिट नहीं कर पा रहे थे।

ड्वेन ब्रावो के आगे जाधव को क्यों भेजा गया, इसका जवाब देते हुए फ्लेमिंग ने कहा, “हमारे पास काफी बल्लेबाज हैं, केदार भारत के लिए एक मध्य स्तर के बल्लेबाज हैं, हम कई अलग-अलग तरीकों से जा सकते थे, केकेआर के खिलाफ मैच में, केदार ने कुछ गेंदें हिट कीं, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। आप हमेशा परिस्थिति के हिसाब से अलग-अलग बल्लेबाजों को भेजते हैं। उस समय, हमें लगा कि केदार वास्तव में अच्छी तरह से ऑफस्पिनर खेल सकते हैं और जडेजा भी। लेकिन लक्ष्य ज्यादा था और गेंदें कम, इसलिए हम लक्ष्य से पीछे रह गए।”

पहले बल्लेबाजी करते हुए, केकेआर की टीम निर्धारित 20 ओवरों में 167 रनों पर ऑल आउट हो गई थी। केकेआर की तरफ से राहुल त्रिपाठी ने 81 रनों की शानदार अर्धशतकीय पारी खेली। सीएसके के लिए कर्ण शर्मा ने दो विकेट लिए और उन्होंने अपने चार ओवरों में केवल 25 रन दिये।

फ्लेमिंग ने कहा, “मैं बहुत खुश हूं कि कर्ण शर्मा ने केकेआर के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन किया, वह अपने मौके के लिए कुछ समय से इंतजार कर रहे थे। उन्होंने वास्तव में कड़ी मेहनत की और हमें मैच में वापसी दिलाई।”

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 3 =