तृणमूल के अन्य 25 नेताओं को भी मिल सकती है केंद्रीय सुरक्षा, भाजपा में जाने की अटकलें तेज

16/12/2020,11:45:35 AM.

 

कोलकाता: बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी अपनी राजनीतिक पकड़ को लगातार मजबूत कर रही है। इस कड़ी में केंद्र सरकार प्रदेश भाजपा के अधिकांश नेताओं के साथ ही तृणमूल कांग्रेस के 25 नेताओं को सुरक्षा मुहैया कराने जा रही है। सूत्रों के अनुसार ममता कैबिनेट के कद्दावर मंत्री रहे शुभेंदु अधिकारी शुक्रवार को भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं। उसके बाद टीएमसी के 25 अन्य शीर्ष नेताओं के भी भाजपा में शामिल होने की अटकलें तेज हो गई हैं।

बताया जाता है कि इनमें विधायक, मंत्री और जमीनी स्तर के जनाधार वाले बड़े नेता भी शामिल हैं। वहीं इनमें आसनसोल निगम के प्रशासक और पांडेश्वर के तृणमूल विधायक जितेंद्र तिवारी का नाम भी है। हाल के दिनों में पार्टी को लेकर उनके बयान के बाद पार्टी से उनकी नाराजगी साफ सामने आ गई है। इस कड़ी में बुधवार को दुर्गापुर की एक सभा में जितेंद्र तिवारी ने यह कहकर सभी को चौका दिया कि यह उनका जिला तृणमूल कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में आखिरी भाषण हो सकता है। वहीं इस सभा से उन्होंने पार्टी पर भी कड़ा प्रहार किया। बुधवार को इस राजनीतिक घटनाक्रम से तिवारी के तृणमूल से अलग होने की बात को काफी बल मिला है। माना जा रहा है कि वह कभी भी पार्टी से अलग होने की घोषणा कर सकते हैं।

वहीं तृणमूल कांग्रेस के विधायक शुभेंदु अधिकारी ने बुधवार शाम को पार्टी के विधायक पद से भी इस्तीफा दे दिया। मंत्री पद से इस्तीफा उन्होंने पहले ही दे दिया है। शुभेंदु अधिकारी को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पहले ही जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा दे दी है, जिसमें बुलेटप्रूफ कार के साथ अर्धसैनिक बलों के सशस्त्र जवान शामिल हैं।

अब टीएमसी के उन 25 नेताओं की सूची बना ली गई है जिन्हें यह सुरक्षा दी जानी है। सूत्रों ने बताया कि ये सारे नेता भाजपा के उपाध्यक्ष मुकुल रॉय और प्रदेश प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय के संपर्क में हैं। इनके बारे में भाजपा ने अपने केंद्रीय नेतृत्व को जानकारी दी है और गृह मंत्रालय ने इनकी सुरक्षा सुनिश्चित करनी शुरू कर दी है।

दरअसल सत्तारूढ़ पार्टी के विधायकों और मंत्रियों को राज्य सरकार सुरक्षा देती है। ममता कैबिनेट से इस्तीफा देने के साथ ही शुभेंदु अधिकारी ने बंगाल सरकार से मिली जेड प्लस की सुरक्षा भी छोड़ दी। उसी तरह टीएमसी के बाकी विधायक और मंत्री जो जल्द भाजपा में शामिल होने वाले हैं, उन्हें भी अपनी सुरक्षा छोड़नी होगी। इसलिए गृह मंत्रालय ने पहले से ही इनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने की तैयारियां कर ली है।

भाजपा सूत्रों ने बताया कि टीएमसी छोड़कर जो 25 अन्य विधायक भाजपा में शामिल होने वाले हैं उनमें से चार लोगों को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी, 10 लोगों को वाई श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी और बाकी छह लोगों को एक्स श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी। जाहिर है कि शुभेंदु अधिकारी के भाजपा में जाने के बाद अगर टीएमसी के 25 अन्य नेता ममता का साथ छोड़ देते हैं तो विधानसभा चुनाव में भाजपा राज्य में सत्ता परिवर्तन कर सकती है।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − two =