तृणमूल को राज्यपाल का जवाब, कहा- मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश

26/11/2020,9:01:45 PM.

 

 

कोलकाता: अपराधियों के साथ सांठगांठ और जांच प्रक्रिया को बाधित करने के तृणमूल सांसद कल्याण बनर्जी द्वारा लगाए गए आरोपों का जवाब राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने दिया है। इस पर बयान जारी कर राज्यपाल ने कहा है कि उन्होंने संविधान की रक्षा की शपथ ली है और जब राज्य के लोग मुश्किल में रहें तब वह राजभवन में सीमित नहीं रह सकते।

राज्यपाल ने कहा है कि सत्तारूढ़ पार्टी जानबूझकर ऐसा बयान दे रही है ताकि राज्य में लगातार बिगड़ती कानून व्यवस्था, बेरोजगारी और किसानों की समस्याओं से ध्यान भटकाया जा सके लेकिन इसमें वह सफल नहीं होगी।
अपने बयान में राज्यपाल ने कहा कि बंगाल में कानून व्यवस्था बिल्कुल बीमार हो चुकी है और इसके खिलाफ वह लगातार मुखर रहेंगे। उन्होंने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 159 के तहत उन्होंने लोगों के अधिकारों की रक्षा की शपथ ली है और इसके प्रति प्रतिबद्ध हैं।

उन्होंने कहा है कि पश्चिम बंगाल सरकार की ओछी मानसिकता की वजह से अब तक बंगाल के किसानों को 84 साल करोड़ों रुपये का नुकसान हो चुका है। बंगाल में रहने वाले 70 लाख किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से वंचित हैं। उनके खाते में 12000 रुपये का सालाना अनुदान नहीं मिल रहा है क्योंकि सरकार ने उनकी सूची ही नहीं भेजी। राज्यपाल ने कहा कि बंगाल में लोगों के मानवाधिकार रक्षा के लिए वह लगातार काम करेंगे। वह किसी से डरते नहीं हैं और किसी भी धमकी का उन पर कोई असर होने वाला नहीं है।

गुरुवार को तृणमूल सांसद कल्याण बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि राज्यपाल के खिलाफ फौजदारी का मामला दायर होना चाहिए।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve − 10 =