नड्डा के काफिले पर हमले के मामले में बंगाल के अधिकारियों से पूछताछ

18/12/2020,8:41:52 PM.

 

कोलकाताः भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमले में बरती गई लापरवाही को लेकर आखिरकार केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने पश्चिम बंगाल सरकार के दो शीर्ष नौकरशाहों से पूछताछ की है। राज्य के मुख्य सचिव अलापन बनर्जी और पुलिस महानिदेशक बिरेंद्र कुमार शुक्रवार शाम वर्चुअल जरिए से अजय भल्ला के समक्ष पेश हुए। दिल्ली से अजय भल्ला ने वीडियो कॉंफ्रेंस के जरिए इनसे नड्डा के काफिले पर हुए हमले के संबंध में पूछताछ की है।

भल्ला ने जानना चाहा कि आखिर जेपी नड्डा के काफिले की सुरक्षा में कोताही क्यों बरती गई? उन्होंने कहा कि नड्डा देश के शीर्षस्थ वीआईपी में हैं। उनकी सुरक्षा को लेकर विशेष तौर पर सावधानी बरती जाती है। राज्य के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने उनके काफिले पर हमले की आशंका भी जताई थी और बार-बार आगाह किया था। बावजूद इसके उनकी गाड़ियों पर पथराव कैसे हुआ? बंगाल सरकार ने इस मामले में क्या कुछ कार्रवाई की है और क्यों ऐसी कोताही बरती गई जिससे उनकी जान को खतरा बना?

सूत्रों ने बताया कि राज्य के मुख्य सचिव अलापन बनर्जी और पुलिस महानिदेशक वीरेंद्र कुमार ने अजय भल्ला को बताया है कि जेपी नड्डा के काफिले की सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई थी। उनके काफिले में तय से अधिक संख्या में गाड़ियां मौजूद थीं जिसके कारण अव्यवस्था हुई। दोनों शीर्ष अधिकारियों ने अजय भल्ला को आश्वस्त किया है कि बंगाल सरकार इस मामले को गंभीरता से ले रही है और हमलावरों के खिलाफ जांच जारी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के सूत्रों ने बताया है कि बंगाल के दोनों शीर्ष अधिकारियों के जवाब से अजय भल्ला संतुष्ट नहीं हैं और इस मामले में कठोर कदम उठाया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि इन दोनों अधिकारियों को अजय भल्ला ने दिल्ली तलब किया था लेकिन बंगाल सरकार की ओर से चिट्ठी लिखकर कहा गया था कि कोरोनावायरस संकट को लेकर आपातकालीन बैठक होनी है जिसमें इन दोनों अधिकारियों का मौजूद रहना जरूरी ह, इसीलिए वर्चुअल जरिए से वे भल्ला से वार्ता कर सकते हैं जिसे केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्वीकार कर लिया था। उसी के मुताबिक शाम यह बैठक हुई है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 + two =