न्यूज प्रहर 22-09-2020—23-09-2020

22/09/2020,7:57:05 PM.

-बालू सप्लायरों व गाड़ी मालिकों का डीएम ऑफिस पर प्रदर्शन

-पुलिस व प्रशासन की कार्रवाई से सप्लाई का काम ठप, संकट बढ़ा

INTRO–आसनसोल शिल्पांचल में बालू, गिट्टी व पत्थर सप्लाई करने वाले लोगों और गाड़ी मालिकों को पुलिस प्रशासन की कार्रवाई का सामना करना पड़ रहा है। इससे उनमें पुलिस के प्रति नाराजगी है। इन सप्लाइरों और गाड़ी मालिकों ने गुरुवार को जिलाधिकारी के समक्ष प्रदर्शन किया।

VO—–पिछले कुछ दिनों से इनका काम ठप पड़ गया है। ये घर निर्माण में लगने वाले बालू, गिट्टी व पत्थर की सप्लाई नहीं कर पा रहे है क्योंकि प्रशासन ने इनके खिलाफ अभियान चला रहा है। इनके कई गाड़ियों को जब्त कर लिया गया है।..इससे इनका काफी नुकसान हो रहा है,…अब बाध्य होकर इन्हें सड़क पर उतरना पड़ा है। आसनसोल के कन्यापुर स्थित पश्चिम बर्दवान के डीएम कार्यालय के समक्ष उन्होंने अपने संगठन आसनसोल बिल्डिंग मैटेरियल सप्लायर एसोसिएशन के बैनर तले प्रदर्शन किया। जुलूस निकाला। अपनी गाड़ियों को भी कार्यालय के बाहर लाइन से खड़ा कर दिया…ये लोग न्याय मांग रहे हैं। इसलिए ये डीएम पुर्णेंदु मांझी से मिले और अपना ज्ञापन सौंपकर पर अपनी समस्याओं को रखा। —–बाइट. भाषण

-इन बालू, गिट्टी, पत्थर सप्लायरों व गाड़ी मालिकों का कहना है कि इस काम से हजारों लोगों का रोजगार जुड़ा। लेकिन पुलिस की कार्रवाई से काम ठप पड़ गया है।..

 

पश्चिम बंगाल सरकार के जिला प्रशासन ने आसनसोल, रानीगंज, जामुड़िया, बाराबनी और दुर्गापुर समेत अन्य इलाकों में अवैध बालू उठाने को लेकर अभियान चला रखा है। करीब पिछले 15 दिनों से जारी इस अभियान के तहत बालू और अन्य चीजों के लदीं गाड़ियों को जब्त किया गया है। लेकिन प्रशासन की यह कार्रवाई उसके खिलाफ ही चली गई है। बालू, गिट्टी, पत्थर की सप्लाई करने वालों ने पुलिस पर ही अवैध वसूली का आरोप लगाया है। साथ ही इन लोगों सवाल उठाया है कि जिन गाड़ियों से सरकारी कामों के लिए बालू-गिट्टी की सप्लाई हो रही है, उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है, वे गाड़ियां जब्त नहीं की जा रही है लेकिन हमारी गाड़ियों को जब्त कर लिया जा रहा है….बाइट

बहरहाल प्रशासन की कार्रवाई के खिलाफ आसनसोल बिल्डिंग मेटरियल्स सप्लाई एसोसिशए ने आंदोलन का मन बना लिया है। इसके सदस्यों ने बुधवार को बैठक की है। इनका कहना है कि बृहस्पतिवार को वे एचएलजी मोड़ के पास इकट्टा होंगे और वहां धरना देंगे….. साथ ही  प्रशासनिक अधिकारी को ज्ञापन सौंपेंगे—-.बाइट

बालू-गिट्टी व पत्थर सप्लाई करने के व्यवसाय से जुड़े लोगों का कहना है कि करीब 200 गाड़ियां चलती हैं और परोक्ष और अपरोक्ष रूप से हमारे व्यवसाय से 10 हजार से अधिक लोग जुड़े हैं। प्रशासन की कार्रवाई से उनके व्यवसाय का नुकसान हो रहा है और लोगों की रोजी-रोटी पर खतरा पैदा हो गया है। —-बाइट


INTRO—-शिल्पांचल के एक और तृणमूल विधायक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। विधान उपाध्याय के कोरोना से पीड़ित पाए जाने पर उनके समर्थकों में चिंता की लहर छा गई है। आसनसोल के मेयर जितेंद्र तिवारी की तरह ही अब उनके कोरोना से जल्द ठीक होने के लिए भी पूजा पाठ शुरू हो गई है।

VO– अभी दो दिन पहले ही आसनसोल नगर निगम के मेयर और पांडेश्वर से तृणमूल विधायक जितेंद्र तिवारी कोरोना वायरस को मात देकर लौटे हैं…उनकी पत्नी भी कोरोना पीड़ित हो गई थीं…दोनों का कोलकाता में इलाज चल रहा था। लेकिन अब शिल्पांचलन के तृणमूल कांग्रेस के एक और विधायक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं….ये  हैं बाराबनी के विधायक  विधान उपाध्याय…तबीयत थोड़ी गड़बड़ लगने पर उन्होंने मंगलवार को कोरोना टेस्ट कराया था। बुधवार को उनकी रिपोर्ट आई है जिसमें वह पॉजिटिव पाए गए हैं। उपाध्याय ने अपने कोरोना संक्रमित होने के बारे में एक फेसबुक पोस्ट के जरिेय जानकारी दी है, और उन लोगों से आग्राह किया कि वे टेस्ट कराएं जो 10 दिनों के अंदर उनके संपर्क में आए थे। कोरोना पीड़ित होने के बाद बाराबनी के विधायक ने स्वयं को घर में ही आइसोलेशन में रख लिया है….

इधर विधान उपाध्याय के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से उनके विधानसभा क्षेत्र बाराबनी के तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं और समर्थकों में चिंता की लहर छा गई है…वे चाहते हैं कि उनके विधायक जल्द ठीक हो जाएं। इसलिए गुरुवार को इन लोगों में कल्याणेश्वरी मंदिर में पूजा-अर्चना की। इनका कहना है कि विधान उपाध्याय ने उनके इलाके में कोरोना काल में भी काफी काम किया है। हम चाहते हैं कि वे जल्द स्वस्थ हो कर फिर से हमारे बीच आ जाएं।


हॉस्टल मोड़, एसबीआई एटीम,कैश वैम कर्मीा, प्रदीप रूईदास, मकसूद आलम मलिक, सव्यसाची बनर्जी,

-बर्नपुर के एटीएम लूटकांड में कितने रुपये की लूट, अब भी स्पष्ट नहीं

-लुटरों की खोजबीन में पुलिस,  तलाशी अभियान जारी

INTRO–बर्नपुर के रिवरसाइड इलाके में बुधवार की रात एटीएम लूटकांड को लेकर अभी तक स्पष्ट जानकारी नहीं मिल पाई है। पहले यह खबर दी गई कि 10-12 लाख रुपये की लूट हुई लेकिन बताया जा रहा है कि जिस ट्रंक यानी बक्से में रुपये थे, उसे लुटने आए बदमाश नहीं ले जा पाए।

VO– -बर्नपुर में पहले कभी ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी. लेकिन बुधवार की रात करीब आठ बजे हीरापुर के रिवरसाइड इलाके में जब एसबीआई कर्मचारी एटीएम में रुपये डालने आए तो अचानक से उन्हें  हथियारों से लैस बदमाशों का सामना करना पड़ा। एक मोटरसाइकिल पर तीन बदमाश आए थे। उन्होंने लूटपाट की कोशिश की जिसका एक कर्मचारी ने विरोध किया…इसी दौरार बदमाशों ने गोली चला दी जो मकसूद आलम मलिक के हाथ में लगी….बदमाश गोली चलाते हुए कालाझरिया की तरफ भाग गए।…इधर तुरंत मकसूद को आसनसोल जिला अस्पताल ले जाया गया। उसके हाथ में गोली लगती हुई निकल गई थी। रातभर उसे अस्पताल में रखने के बाद गुरुवार को छुट्टी दे दी गई…. जिस गाड़ी से रुपये लेकर बैंक कर्मचारी आए थे, उसके ड्राइवर प्रदीप रूईदास ने घटना के बारे में बताया था कि वे तीन लोग थे….बाइट

वहीं गुरुवार को ना तो बैंक और ना ही पुलिस की तरफ से स्पष्ट तौर पर बताया गया कि कितने रुपये की लूट हुई है…सूत्रों का कहना है कि बदमाशों ने समझा कि बैग में रुपये हैं, इसलिए उन्होंने बैग को छिनने का प्रयास किया….उसे ही वे ले गए। लेकिन उसमें ज्यादा रुपये नहीं थे..बताया गया है कि एटीएम में डालने के लिए रुपये ट्रंक में थे, लेकिन उसे बदमाश नहीं ले जा पाए हैं,…हालांकि इस बात की बैंक की तरफ से पुष्टि नहीं की गई है….

हालांकि यह भी सवाल पूछा जा रहा  कि जब बैंक कर्मी रुपये डालने के लिए एटीएम गए थे तो उनका साथ सुरक्षा कर्मी क्या कर रहा है। उसकी भूमिका पर भी सवाल उठ रहा है।

 

 


-आसनसोल के मेयर जितेंद्र तिवारी का गाजे-बाजे से स्वागत

-कोरोना का सफल इलाज कराकर कोलकाता से लौटें

वीओ—– ये ढोल-बाजा मेयर जितेंद्र तिवारी के सकुशल, स्वस्थ होकर आसनसोल लौटने की खुशी में हैं। उनके समर्थक खुशी में ढोल बजा रहे हैं, लोगों में मिठाइयां  बांट रहे हैं….दरअसल आसनसोल के मेयर जितेंद्र तिवारी और उनकी पत्नी चैताली तिवारी कोरोना वायरस को मात देकर घर वापस लौटे हैं।..कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर कोलकाता के मेडिका अस्पताल में पहले जितेंद्र तिवारी भर्ती हुए थे। उसके बाद जब उनकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव पाई गईं तो उन्हें भी कोलकाता के उसी अस्पताल में भर्तीी कराया गया है।…बहरहाल अब दोनों स्वस्थ हैं और उनके पार्टी समर्थकों में खुशी की लहर है।

मालूम हो कि जितेंद्र तिवारी ने 15 सितंबर को एक ट्वीट के जरिये बताया था कि वे कोरोना पॉजिटिव हैं। हालांकि इसके पहले यह सूचना आ चुकी थी कि वे कोरोना महामारी का शिकार हो चुके हैं और स्वयं को आइसोलेशन में रख लिया है। लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आदेश के बाद उन्हें कोलकाता बेहतर इलाज के लिए ले जाया गया था….

बहरहाल उनके कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद आसनसोल और शिल्पांचल के कई हिस्सों में उनके स्वास्थ्य को लेकर मंदिरों में पूजा-पाठ किए गए थे। अब उनके स्वस्थ होकर लौटने पर भी पूजा-पाठ का सिलसिल जारी है…मंगलवार को आसनसोल बाइपास के घाघरबूढ़ी मंदिर में उनके स्वस्थ होने की खुशी में पूजा पाठ की गई। यह पूजा पाठ पश्चिम बर्दवान बार्बर वेलफेयर एसोसिएशन की तरफ से की गई। इस मौके पर नाई समाज के कई लोग मौजूद थे।

 

पश्चिम बंगाल में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 2,28,302

पश्चिम बर्दवान में अब तक 6,299 कोरोना मरीज, 50 की मौत

आसनसोल के मेयर जितेंद्र तिवारी अपनी पत्नी चैताली तिवारी संग कोरोना वायरस से जंग जीत कर वापस अपने घर तो आ गए हैं लेकिन आपके लिए यह जानना जरूरी है कि आपके जिले यानी पश्चिम बर्दवान में कोरोना की क्या स्थिति है,..आपको बता दें कि सरकारी आंकड़े के मुताबिक पश्चिम बर्दवान में सोमवार की रात तक कुल 6,299 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 50 मरीजों की मौत भी हो चुकी है..हालांकि जिले के 5,254 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं…फिलहाल जिले में कोरोना के 995 सक्रिय मामले हैं।….ये तो हुए आपके जिले की कोरोना रिपोर्ट….अब आपको आपके राज्य पश्चिम बंगाल की स्थिति भी बता देते हैं….सोमवार की रात राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी कोरोना बुलेटिन के मुताबिक राज्य में  कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 2,28,302 हो गई है। इनमें से 4,421 मरीज कोरोना से जंग हार कर अपनी जान गवां चुके हैं..बहरहाल राहत की बात है कि बंगाल में कुल  1,98,983 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। हालांकि अभी भी 24,898 मरीज या तो अस्पताल या घर में इलाजरत हैं।

Total COVID-19 Cases till 20th September 2,25,137
2 New COVID-19 Cases on 21st September 3,165
3 Total COVID-19 Cases till 21st September (1+2) 2,28,302
4 Total Discharged 1,98,983 (+3,011)
5 Total Deaths as on 21st September* 4,421 (+62)
6 Active COVID-19 Cases as on 21st September 24,898 (+92)
7 Discharge Rate (4/3) 87.16%

Paschim Bardhaman 6,299+119 5,254+79 50 995+40

 

 


दुर्गापुरः विधाननगर पम्प हाउस के निकट मिला अज्ञात व्यक्ति का शव

-लाश को पुलिस ने कब्जे में किया, पोस्टमार्टम के लिए भेजा

यह व्यक्ति कौन है और इस जंगल में कैसे पहुंचा,  यह कोई नहीं जानता।…इसकी मौत कैसे हुई, यही भी कोई नहीं जानता है….हां, कुछ सफाई कर्मियों ने इस व्यक्ति की लाश को झूलते हुए देखा….यह शव जहां पाया गया है, वह दुर्गापुर के विधाननगर पम्प हाउस मोड़ के करीब है। जंगल में इस व्यक्ति को झूलते देख पुलिस को खबर दी गई….व्यक्ति की उम्र 45-50 के बीच है। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर तहकीकात की और लाश को पोस्टमार्टम के लिए दुर्गापुर महकमा अस्पताल भेजा। पुलिस का प्राथमिक अनुमान है कि व्यक्ति की मौत कम से कम दो दिन पहले हुई है…लेकिन बड़ा सवाल है कि यह व्यक्ति यहां तक कैसे पहुंचा और इसकी मौत की वजह क्या है,…..बहरहाल पुलिस इस मामले में तहकीकात कर रही है..


-बाराबनीः तृणमूल की आपसी गुटबाजी, पार्टी ऑफिस में तोड़फोड़

-नए युवा अध्यक्ष को सम्मानित करने से फूटा गुस्सा

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को जहां मजबूती से उभरी बीजेपी से जूझना पड़ रहा है, वहीं अंदुरूनी लड़ाई का भी सामना करना पड़ रहा है। तृणमूल कांग्रेस की एक बड़ी समस्या आपसी गुटबाजी है। इस गुटबाजी में अब तक कई पार्टी कर्मियों की जान भी जा चुकी है। पश्चिम बर्दवान जिले में भी अब तृणमूल कांग्रेस की गुटबाजी उभर कर सामने आ रही है। खास कर पिछले  दिनों जिले की नई कार्यकारिणी की घोषणा के बाद।….मंगलवार को बाराबनी विधानसभा क्षेत्र के पुचुड़ा ग्राम पंचायक के मदनपुर गांव में तृणमूल कांग्रेस कार्यालय में तोड़फोड़ की गई है..इससे लोगों में गुस्सा है। कार्यालय में रखीं कुर्सियाें को तोड़ दिया गया है।..यह तोड़फोड़ तब की गई जब एक पार्टी कार्यकर्ता ने मारपीट की शिकायत पुलिस से की। ………बाइट(-सफेद कमीज)

विरोधी गुट के बदमाशों द्वारा पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ करने से गांव में गुस्सा है।…दरअसल नए ब्लॉक युवा अध्यक्ष को सम्मानित करने से दूसरा गुट इसे पचा नहीं पा रहा था, यही वजह है कि यह हमला किया गया है…..बाइट-(पीला टी शर्ट)


आशा शर्मा, 43, ज्ञापन, बिजली, पानी, सड़क,

बुनियादी सुविधा पर ध्यान दिया जाए.

 

-वार्ड नंबर 43 की भाजपा  पार्षद आशा शर्मा ने एडीएम को सौंपा ज्ञापन

-बिजली, पानी, सड़क और अन्य बुनियादी समस्याओं के समाधान की मांग

– आसनसोल नगर निगम के मेयर जितेंद्र तिवारी का दावा है कि उनके कार्यकाल में नगर निगम क्षेत्र में बहुत काम किये गये हैं, आम जनता के लिए जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं…लेकिन वहीं वार्ड 43 की भाजपा पार्षद आशा शर्मा का आरोप है कि उनके वार्ड में कई समस्याएं हैं जिन पर अभी तक ध्यान नहीं दिया गया है।…इन समस्याओं को लेकर आशा शर्मा ने मंगलवार को आसनसोल के एडीएम को एक ज्ञापन सौंपा है। हालांकि उन्होंने मेयर जितेंद्र तिवारी से भी अनुरोध किया है कि उनके वार्ड की समस्याओं की तरफ नगर निगम और प्रशासन द्वारा ध्यान दिया जाए और मूलभूत नागरिक सुविधाओं को बहाल किया जाए जिससे आम लोगों को सुविधा हो…..बाइट आशा शर्मा

 


मानसून को देखते हुए प्रशासन ने नदी तटों से बालू उठाने पर अभी प्रतिबंध जारी कर रखा है लेकिन प्रशासन को ठेंगा दिखाकर कई दिनों से अवैध रूप से बालू की उठाई हो रही थी। …जब इसकी खबर जिला प्रशासन को हुई तो उसने तेजी से कदम उठाया है।…पिछले कुछ दिनों में बालू लदे कई वाहव जब्त किये गए हैं। इनमें डंपर से लेकर ट्रैक्टर तक शामिल हैं…..

लीड खबर


-आसनसोल के धधका इलाके में व्यवसायी पर जानलेवा हमला

व्यवसायी व एमटा के पूर्व मैनेजर की हालत गंभीर, दुर्गापुर रेफर

 

आसनसोल के उत्तर थाना अंतर्गत धधका के सुकांतपल्ली में मंगलवार की शाम एक कंपनी के पूर्व मैनेजर और व्यवसायी पर जानलेवा हमला किया गया है….जिस व्यक्ति पर हमला किया गया है, उनका नाम वीर बहादुर सिंह बताया गया है…सूत्रों ने बताया कि शाम को वीर बहादुर सिंह दूध लेकर घर लौट रहे थे, तभी उनके घर की तरफ गली में किसी ने उनपर भुजाली से हमला कर दिया…हमला करने के बाद हमलावर भागने में सफल हो गया….वीर बहादुर सिंह की चित्कार सुनकर उनके परिजन और आसपास के लोग दौड़े आये..। खून से लथपथ हो चुके वीर बहादुर सिंह को तत्काल आसनसोल जिला अस्पताल ले जाया गया…..यहां प्राथमिक इलाज के बाद उनकी गंभीर अवस्था को देखते हुए दुर्गापुर के मिशन अस्पताल भेज दिया गया है…घटना को लेकर धधका इलाके में तनाव है। इलाके में पुलिस बल तैनात किया गया है। इधर आसनसोल के डिप्टी मेयर अमर चटर्जी ने इस जानलेवा हमले की निंदा करते हुए पुलिस से दोषियों को गिरफ्तार करने और कठोर सजा देने की मांग की है… —-बाइट

इस घटना के सिलसिले में परिवार की तरफ से मामला दर्ज कराया गया है…वीर बहादुर सिंह के परिजनों ने पुलिस को ऐसे लोगों के नाम बताए हैं जिन पर उनका संदेह है। बताया गया है कि उनका किसी के साथ जमीन को लेकर कोई विवाद चल रहा था। वीर बहादुर सिंह का लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के साथ जुड़ाव है। वह पिछले नगर निगम चुनाव में वार्ड नंबर 30 से खड़े हुए थे हालांकि उन्हें हार मिली थी…

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 + sixteen =