पुलिस हिरासत में भाजपा कार्यकर्ताओं की पीट-पीटकर हत्या के आरोप, सीबीआई जांच की मांग

16/10/2020,9:00:43 PM.

कोलकाताः पूर्व मेदिनीपुर जिले के पटासपुर गांव में भाजपा कार्यकर्ता मदन घोराई की पुलिस हिरासत में संदिग्ध परिस्थियों में मृत्यु पर तनाव बढ़ गया है। भाजपा ने घटना की सीबीआई जांच की मांग की है। मदन घोराई पार्थिव शरीर गुरुवार देर रात पार्टी के राज्य मुख्यालय में लाया गया था। मदन के परिवार के सदस्य शुक्रवार को कोलकाता आए।

पार्टी की राज्य महासचिव और सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि ‘हम उनके साथ खड़े हैं। भाजपा करने के अपराध में पुलिस उसे कल पटासपुर गांव में उसके घर से उठा ले गयी थी। हिरासत में उसे बेरहमी से पीट-पीटकर मार डाला गया। उसके बाद घर के लोगों को बिना बताए शव को कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल ले आया गया। बाद में, पुलिस ने घर के लोगों से कहा है कि उसे हिरासत में बीमार पड़ने पर अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। लॉकेट का सवाल है कि पुलिस बताए कि उसे जीवित या मृत अवस्था में एसएसकेएम अस्पताल लाया गया था? उसे किस हालत में लाया गया, इसका कोई सबूत या दस्तावेज उपलब्ध नहीं हैं। इस तरह एक के बाद एक भाजपा कार्यकर्ता पुलिस के हाथों मारे जा रहे हैं। पुलिस यहां जमीनी स्तर पर हत्यारे की भूमिका निभा रही है। पुलिस के नाम पर मामला दर्ज किया जाना चाहिए। इधर भाजपा के अधिवक्ता ब्रजेश झा ने उच्च न्यायालय को चिट्ठी लिखकर घटना की सीबीआई जांच की मांग की है।

इधर भाजपा के महासचिव व प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने पटासपुर के भाजपा नेता मदन घोराई की पुलिस हिरासत में राजनीतिक हत्या करने का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी की सरकार पर निशाना साधा है।विजयवर्गीय ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि बंगाल में पुलिस हिरासत में भी राजनीतिक हत्या हो रही है। भाजपा के बूथ उपाध्यक्ष मदन घोराई की पुलिस हिरासत में मृत्यु हो गयी। पुलिस ने उन्हें झूठे मामलों में घर से गिरफ्तार किया और हिरासत में पुलिस ने इतनी पिटाई की कि उनकी मौत हो गयी। यह सब ममता जी और तृणमूल की शह पर हुआ है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − nine =