बंगाल कांग्रेस का जिम्मा अधीर चौधरी को, क्या लगा पाएंगे पार्टी का बेड़ा पार?

10/09/2020,10:36:59 AM.

कोलकाताहिंदी.कॉम

कोलकाताः कांग्रेस के आक्रामक लेकिन बड़बोले नेता अधीर रंजन चौधरी को फिर से पश्चिम बंगाल कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया है। फिलहाल बंगाल में कोई ऐसा बड़े कद का कांग्रेस नेता नहीं है जो अगले साल राज्य में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में पार्टी की साख बचा पाए।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्देश पर बुधवार की रात एआईसीसी के महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल ने एक विज्ञप्ति जारी कर चौधरी को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा की है। चौधरी दूसरी बार प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए हैं। उसके पहले उन्हें 2014 में बंगाल प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था लेकिन 2016 में उनसे अचानक यह पद छीन लिया गया और उनकी जगह सोमेन मित्रा को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। पिछले जुलाई महीने में मित्रा का देहांत हो गया था। तब से यह पद खाली था। लेकिन इतने दिनों की माथापच्ची के बाद पार्टी आलाकमान ने अंततः अधीर चौधरी को फिर से प्रदेश अध्यक्ष बनाया है।

पश्चिम बंगाल की बहरमपुर लोकसभा सीट के कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी फिलहाल संसद की निचली सदन लोकसभा में पार्टी के नेता भी हैं। लेकिन अब बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष पद भी उनके जिम्मे आ गया है। दरअसल पश्चिम बंगाल में कांग्रेस की स्थिति खराब हो चुकी है। राज्य में वह इकलौते कांग्रेसी सांसद हैं जबकि विधायकों की संख्या भी गिनती में है। इसलिए अगले विधानसभा चुनाव में पार्टी को अपनी साख बचाने के लिए जूझना पड़ेगा। बंगाल में भाजपा का आश्चर्यजनक रूप से कद बढ़ा है। पिछले लोकसभा चुनाव में  भाजपा ने 40 फीसदी वोट शेयर हासिल करते हुए कुल 18 सीटें जीती थीं। वहीं कांग्रेस का काफी खराब प्रदर्शन रहा था। ऐसी स्थिति में अब चौधरी को बंगाल की कमान सौंपी गई है। अब देखना है कि वह हतोत्साहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं में कितनी जान फूंककर चुनाव के लिए तैयारी कर पाते हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eight + fourteen =