बंगाल : माकपा-कांग्रेस के संयुक्त देशव्यापी बंद का राज्य में व्यापक असर

26/11/2020,10:59:15 AM.

 

महानगर समेत राज्य के विभिन्न जिलों में समर्थकों ने निकली रैलियां व जुलूस 

कोलकाता: केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ माकपा और कांग्रेस के श्रमिक संगठनों द्वारा आहूत देशव्यापी बंद का पश्चिम बंगाल में गुरुवार सुबह व्यापक असर देखने को मिला है।

माकपा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर राज्य भर में रैलियां निकालीं और सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करते हुए पूरे यातायात को जाम कर दिया है। कई जगहों पर रेल अवरोध किया गया है जिसकी वजह से नियमित यात्रियों को काफी परेशानी हुई है।

केंद्र सरकार के श्रम और कृषि कानून सहित सात सूत्री मांगाें को लेकर केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने बंद का आह्वान किया है। गुरुवार सुबह से ही हड़ताल समर्थकों ने रैलियां निकालनी शुरू कर दीं। माकपा विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती ने जादवपुर 8बी बस स्टैंड से हड़ताल समर्थित रैली का नेतृत्व किया। नागेरबाजार मोड़ पर बड़ी संख्या में माकपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक साथ रैली में हिस्सा लिया। इधर प्रशासन की ओर से किसी भी तरह की अप्रिय घटना को टालने के लिए राज्य भर में पुलिस के जवानों की तैनाती की गई है। अकेले महानगर कोलकाता में 5000 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

उत्तर 24 परगना के बारासात में बड़ी संख्या में बंद समर्थकों ने सड़क जाम किया है। हावड़ा बंडेल शाखा के चंदननगर और श्रीरामपुर स्टेशन पर सुबह 7:30 बजे के करीब बंद समर्थकों ने रेलवे पटरी पर बैठ कर नारेबाजी शुरू कर दी जिसकी वजह से रेल सेवाएं बाधित हुईं। बेलघरिया में भी रेल रोको अभियान चलाया गया है। मध्यमग्राम में बंद समर्थकों ने ट्रेन रोक दी। बैरकपुर में टायर जलाकर सड़क जाम कर दिया गया।

डायमंड हार्बर सियालदह आदि क्षेत्रों में भी रेल और सड़क मार्ग को बंद समर्थकों ने जाम कर दिया। सुबह 7:00 बजे इच्छापुर में हड़ताल समर्थकों ने ट्रेन रोक दी। सुभाष ग्राम में सुबह 7:00 बजे से विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। कॉलेज स्ट्रीट में भी सड़क जाम किया गया है। कोलकाता का दिल कहे जाने वाले धर्मतल्ला में भी सुबह के समय ही प्रदर्शनकारियों ने सड़कों पर टायर जलाए। इस वजह से यातायात बाधित हुआ।

कॉलेज स्ट्रीट में भी सारी दुकानें और बाजार बंद हैं। कुल मिलाकर कहें तो केंद्रीय ट्रेड यूनियनों की हड़ताल का असर पश्चिम बंगाल में सुबह 9:30 बजे तक व्यापक दिखा है। राज्यभर में यातायात के साथ बाजार दुकान आदि प्रतिष्ठान बंद ही नजर आए हैं।

राज्य भर में सड़कों पर उतरे कार्यकर्ताओं ने बाधित किया सड़क व रेल यातायात

कोलकाता, केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ माकपा और कांग्रेस के श्रमिक संगठनों द्वारा आहूत देशव्यापी बंद का पश्चिम बंगाल में गुरुवार सुबह व्यापक असर देखने को मिला है।

माकपा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर राज्य भर में रैलियां निकालीं और सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करते हुए पूरे यातायात को जाम कर दिया है। कई जगहों पर रेल अवरोध किया गया है जिसकी वजह से नियमित यात्रियों को काफी परेशानी हुई है।

केंद्र सरकार के श्रम और कृषि कानून सहित सात सूत्री मांगाें को लेकर केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने बंद का आह्वान किया है। गुरुवार सुबह से ही हड़ताल समर्थकों ने रैलियां निकालनी शुरू कर दीं। माकपा विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती ने जादवपुर 8बी बस स्टैंड से हड़ताल समर्थित रैली का नेतृत्व किया। नागेरबाजार मोड़ पर बड़ी संख्या में माकपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक साथ रैली में हिस्सा लिया। इधर प्रशासन की ओर से किसी भी तरह की अप्रिय घटना को टालने के लिए राज्य भर में पुलिस के जवानों की तैनाती की गई है। अकेले महानगर कोलकाता में 5000 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

उत्तर 24 परगना के बारासात में बड़ी संख्या में बंद समर्थकों ने सड़क जाम किया है। हावड़ा बंडेल शाखा के चंदननगर और श्रीरामपुर स्टेशन पर सुबह 7:30 बजे के करीब बंद समर्थकों ने रेलवे पटरी पर बैठ कर नारेबाजी शुरू कर दी जिसकी वजह से रेल सेवाएं बाधित हुईं। बेलघरिया में भी रेल रोको अभियान चलाया गया है। मध्यमग्राम में बंद समर्थकों ने ट्रेन रोक दी। बैरकपुर में टायर जलाकर सड़क जाम कर दिया गया।

डायमंड हार्बर सियालदह आदि क्षेत्रों में भी रेल और सड़क मार्ग को बंद समर्थकों ने जाम कर दिया। सुबह 7:00 बजे इच्छापुर में हड़ताल समर्थकों ने ट्रेन रोक दी। सुभाष ग्राम में सुबह 7:00 बजे से विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। कॉलेज स्ट्रीट में भी सड़क जाम किया गया है। कोलकाता का दिल कहे जाने वाले धर्मतल्ला में भी सुबह के समय ही प्रदर्शनकारियों ने सड़कों पर टायर जलाए। इस वजह से यातायात बाधित हुआ।

कॉलेज स्ट्रीट में भी सारी दुकानें और बाजार बंद हैं। कुल मिलाकर कहें तो केंद्रीय ट्रेड यूनियनों की हड़ताल का असर पश्चिम बंगाल में सुबह 9:30 बजे तक व्यापक दिखा है। राज्यभर में यातायात के साथ बाजार दुकान आदि प्रतिष्ठान बंद ही नजर आए हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + 6 =