बंगाल में दुर्गा पूजा का समापन, पूजा कार्निवल को मिस कर रहे हैं लोग

26/10/2020,4:47:55 PM.

 

कोलकाता: बंगाल में पांच दिवसीय दुर्गा पूजा उत्सव सोमवार को समाप्त हो गया, हालांकि रंगारंग जुलूस के साथ होने वाला पूजा कार्निवल, जो आमतौर पर इस अवसर को चिह्नित करता है, शहर की सड़कों से गायब है।

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने इस पर पाबंदी लगाई है। सीमित संख्या में लोग प्रतिमाओं को विसर्जन कर रहे हैं। पारंपरिक पोशाक पहने और चेहरे पर मास्क के साथ भक्त सुरक्षित दूरी बनाए हुए, देवी दुर्गा के चरणों को स्पर्श करते हुए ”अगले साल फिर आना मां” का आह्वान करते हुए विसर्जन के लिए मूर्ति ले जाते नजर आ रहे हैं। इस बार पारंपरिक ”सिन्दूर खेला” पर पर कोट्र की मनाही है।

कोलकाता पुलिस के सूत्रों के अनुसार, मूर्ति विसर्जन समारोह शांतिपूर्ण ढंग से सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं, क्योंकि सभी नदी घाटों पर सीसीटीवी लगाए गए हैं और नागरिक निकायों और कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के कर्मियों ने स्थिति पर नज़र रखने के लिए कार्यक्रम स्थल पर मौजूद हैं। सभी पूजा समितियों को कहा गया है कि विसर्जन के लिए न्यूनतम सदस्यों को घाटों पर भेजा जाए। जल प्रदूषण से बचने के लिए नदी से मूर्तियों के अवशेषों को उठाने और निकालने में मदद करने के लिए घाटों पर कुछ पर भारी क्रेनें लगाई गई हैं। इस साल, हालांकि, रेड रोड पर दुर्गा पूजा कार्निवाल कोरोना महामारी के कारण रद्द कर दिया गया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten + 16 =