बंगाल में दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन शुरू, बिन सिंदूर विदा होंगी मां दुर्गा

26/10/2020,12:07:17 PM.

 

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता समेत राज्य भर में मां दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन सोमवार से शुरू हो गया है। राजधानी कोलकाता में प्रशासन ने सभी गंगा घाटों को साफ करवाया है और नदी में किसी भी तरह की दुर्घटना को रोकने की कोशिश के तहत रस्सी से घेराबंदी की गई है।

 24 घाटों की हुई है साफ-सफाई
कोलकाता में गंगा नदी के सभी 24 घाटों की सफाई की गई है। साथ ही पुलिस ने यहां सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की है। कोलकाता पुलिस के पास पड़े आवेदन के मुताबिक सोमवार को कोलकाता में 1800 प्रतिमाओं का विसर्जन होना है। विसर्जन के लिए रूट भी तय किए गए हैं। इसके तहत रासबिहारी एवेन्यू होते हुए कालीघाट, बालीगंज रोड से गंगा घाट पर जाने का रास्ता मुख्य है। रेड रोड से भी प्रतिमाओं को ले जाया जाएगा।

इस बार बिना सिंदूर की विदा होंगी मां
खास बात यह है कि विजयादशमी के बाद वाले दिन सिंदूर खेल मनाया जाता है। नियमानुसार विजया के दिन महिलाएं सिंदूर खेला खेलती हैं। इस पंरपरा के तहत मां दुर्गा को विदाई स्वरूप सिंदूर लगाया जाता है। ऐसी धारणा है कि 9 दिनों तक मां अपने मायके में रहती हैं और फिर विदा हो जाती हैं। विदा होने से पहले उन्हें सिंदूर लगाया जाता है और उसी सिंदूर को सभी सुहागन महिलाएं लगाकर अपने पति के दीर्घायु होने की कामना करती हैं। इस बार कलकत्ता उच्च न्यायालय ने इस रस्म पर रोक लगा रखी है ताकि भीड़ एकत्रित ना हो। इसलिए कोलकाता में कहीं भी सिंदूर खेल आयोजित होने की सूचना नहीं है। महामारी कोरोनावायरस का संक्रमण फैलने के मद्देनजर हाई कोर्ट ने इस बार किसी भी तरह से भीड़ पर लगाम लगाने का निर्देश दिया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 + 7 =