बलविंदर सिंह का परिवार ममता बनर्जी के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठेगा

16/10/2020,9:06:29 PM.

कोलकाताः  जिस सिख जवान बलविंदर सिंह की पगड़ी को बंगाल पुलिस के जवानों ने गिराया था और गिरफ्तार कर लिया था, उनके परिवार के सदस्य राज्य सचिवालय ‘नबान्न’ के सामने धरना प्रदर्शन करेंगे। पुलिस ने बलबिंदर के लाइसेंसी गन को सीज कर उन्हें न्यायालय से अपने रिमांड पर लिया है। अब इसके खिलाफ बलविंदर सिंह की पत्नी करमजीत कौर और बेटे हर्षवीर सिंह राज्य सचिवालय के सामने विरोध प्रदर्शन करेंगे।

करमजीत कौर ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ मुलाकात के लिए समय मांगा था, लेकिन हमें कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। मैं उनसे अपने पति बलविंदर सिंह को रिहा करने का अनुरोध करना चाहूंगी। मैं और मेरा बेटा हर्षवीर सिंह बहुत उम्मीद के साथ यहां आए थे। अगर वह रिहा नहीं होते हैं, तो हम कल (17 अक्टूबर) सुबह 11 बजे उसके कार्यालय के बाहर ‘धरने’ पर बैठेंगे। कोलकाता में सिख समुदाय बलविंदर के समर्थन में सामने आया है और घटना के विरोध में भवानीपुर के संत कुटिया गुरुद्वारा में मौन प्रदर्शन किया गया है। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने इस घटना की निन्दा की और पश्चिम बंगाल पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि मूल रूप से भटिंडा के रहने वाले बलविंदर सिंह को पुलिस ने गत आठ अक्टूबर को भाजपा के सचिवालय घेराव अभियान के दौरान बंदूक रखने के जुर्म में गिरफ्तार किया था। हालांकि उन्होंने अपना लाइसेंस दिखाया था जो दिसंबर 2021 तक वैलिड है। वह उत्तर 24-परगना के भाटपाड़ा इलाके के निवासी हैं। पुलिस ने कहा कि बरामद पिस्तौल का लाइसेंस 2009 में जम्मू और कश्मीर में राजौरी जिले के जिला मजिस्ट्रेट द्वारा जारी किया गया था। सिंह का लाइसेंस परमिट राजौरी तक सीमित है और बंगाल में उपयोग करने के लिए अवैध है। बलविंदर सिंह की पत्नी और बेटे ने बुधवार (14 अक्टूबर) को राजभवन में राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की थी और उनकी मदद मांगी थी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five + nineteen =