बार्ज पी-305 से बचाए गए 184 कर्मचारी, 89 की खोज जारी

19/05/2021,4:57:39 PM.

नई दिल्ली। चक्रवात ताउते की तूफानी लहरों के बीच समुद्र में डूबे जहाज बार्ज पी-305 से बचाए गए 184 कर्मचारियों को लेकर बुधवार सुबह नौसेना के जहाज ​आईएनएस कोच्चि और आईएनएस कोलकाता बचाव दल के साथ मुंबई बंदरगाह पर लौट आये हैं। इस जहाज पर कुल 273 कर्मचारी तैनात थे जिसमें अभी भी 89 कर्मचारी लापता हैं। बार्ज गैल कंस्ट्रक्टर से बचाए गए सभी 137 लोगों को कल ही सुरक्षित बचाकर रेस्क्यू मिशन खत्म कर दिया गया था।

नौसेना प्रवक्ता के अनुसार अरब सागर में उठे ताउते तूफान में सोमवार को मुंबई के बांबे हाई के पास तेल उत्खनन के काम में लगे बार्ज पी-305 और बार्ज गैल कंस्ट्रक्टर समुद्र में बह गए थे। दोनों जहाज़ों को भारतीय नौसेना और तटरक्षक बल ने सोमवार की देर शाम ही ढूंढ निकाला और जहाजों में फंसे 410 कर्मियों को बचाने के लिए ऑपरेशन शुरू किया। नौसेना ने अत्यंत चुनौतीपूर्ण समुद्री परिस्थितियों में आईएनएस कोच्चि, आईएनएस कोलकाता और 18 अपतटीय सहायता पोत एनर्जी स्टार को राहत एवं बचाव कार्य में लगाया। समुद्र में तेज हलचल के कारण विषम परिस्थितियों में पी-305 जहाज डूब गया।

नौसेना और कोस्ट गार्ड के खोज एवं बचाव अभियान में बार्ज ‘पी305’ के 184 कर्मियों को सुरक्षित बचा लिया गया है। इस जहाज पर कुल 273 कर्मचारी तैनात थे जिसमें अभी भी 89 कर्मचारी लापता हैं। रेस्क्यू मिशन में लगे आईएनएस कोच्चि और आईएनएस कोलकाता बचाए गए 184 कर्मचारियों को लेकर बचाव दल के साथ आज सुबह मुंबई बंदरगाह लौट आये हैं। आईएनएस तेग, आईएनएस बेतवा, आईएनएस ब्यास, पी-8आई विमान और सीकिंग ​हेलोस खोज और बचाव कार्यों के साथ जारी है।​ प्रवक्ता के मुताबिक गुजरात के पोपाव बंदरगाह के समुद्र में फंसे दो जहाजों एसएस-3 से 196 और सागर भूषण पोत से 101 लोगों को बचाया गया है। दोनों जहाज़ों को आईएनएस तलवार ने खींचकर पोर्ट स्टेशन पहुंचा दिया है। भारतीय नौसेना के हेलीकॉप्टरों से इन जहाजों पर सवार चालक दल को भोजन और पानी उपलब्ध कराया जा रहा है।

आईएनएस कोच्चि से मुंबई लाये गए कर्मचारी अमित कुमार कुशवाहा ने कहा कि बार्ज पी-305 डूब रहा था, इसलिए मुझे समुद्र में कूदना पड़ा। मैं 11 घंटे तक समुद्र में रहा। उसके बाद नौसेना ने हमें बचाया। आईएनएस कोच्चि के कमांडिंग ऑफिसर कैप्टन सचिन सिकेरा ने बताया कि 184 लोग पूरी तरह से बचाकर मुंबई लाये गए हैं। नौसेना के जहाजों और विमानों की ऑपरेशन अभी भी जारी है। हम अभी भी इलाके के लोगों की तलाश कर रहे हैं। हमें आशावादी होना चाहिए। अभी हालात में सुधार हुआ है। उन्होंने बताया कि मुंबई से लगभग 35-40 मील की दूरी पर जहाज पी-305 के संकट में होने का इनपुट मिला। जहाज बहुत कठिन परिस्थितियों में था क्योंकि तूफान मुंबई के पश्चिम से गुजर रहा था। हम लोगों ने घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिति को संभाला। बचाए गए 184 लोगों में से 125 मेरे जहाज पर सवार हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 5 =