बिहारः भारत बंद का राजधानी समेत पूरे प्रदेश में असर

08/12/2020,11:34:36 AM.

पटना (एजेंसी)। प्रस्तावित तीन किसान विधेयक के विरोध में आज किसान संगठन सहित तमाम विपक्षी दलों के भारत बंद का असर राजधानी पटना सहित पूरे प्रदेश में दिख रहा है। सुबह 6 बजे से ही राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर गए। जबकि बंद को लेकर प्रशासन 11 बजे से तैयारी कर रहा था।

राजद, कांग्रेस, भाकपा माले, सीपीआई सहित अन्य समर्थक दलों के कार्यकर्ता सुबह से ही सड़कों पर उतर गए। इससे बंदी सुबह 6 बजे से ही प्रभावी हो गई। इसका आम जनजीवन पर असर देखने को मिला है। ट्रेन और बसों के साथ-साथ दूसरी अन्य सुविधाओं को बाधित करने का प्रयास किया गया है। प्रदर्शनकारियों का रुख सुबह से ही उग्र दिख रहा है।

विरोध प्रदर्शन सुबह से ही शुरू होने के कारण पटना में महाजाम लग गया। खुसरूपुर मोड़ से लेकर फतुहा तक लंबा जाम लग गया। वाहनों की पूरी लाइन लग गई। प्रदर्शनकारियों ने कोई भी गाड़ी आगे नहीं बढ़ने दी। पटना में राष्ट्रीय राजमार्ग पर पहाड़ी से होते हुए गया रूट टोल प्लाजा तक लंबा जाम लग गया। फतुहा के पास फोरलेन पर भी खुसरूपुर मोड़ से करौटा तक जाम लग गया।

प्रदर्शनकारियों ने सुबह सबसे पहले ट्रेनों को निशाना बनाया। दरभंगा के लहरियासराय स्टेशन पर भाकपा माले के कार्यकताओं ने सुबह 6 बजे ही स्टेशन पहुंच कर रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस दौरान गंगासागर एक्सप्रेस को काफी देर स्टेशन पर रुकना पड़ा। इधर, दरभंगा रेलवे स्टेशन पहुंचे सीपीआई कार्यकर्ताओं ने नई दिल्ली-बिहार संपर्क क्रांति स्पेशल सुपरफास्ट एक्सप्रेस को रोककर ट्रैक पर विरोध प्रदर्शन किया। इसकी वजह से यात्रियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। भाकपा माले, सीपीआई के साथ आइसा व अन्य दलों ने एकसाथ मिलकर ट्रेनों का परिचालन बाधित किया। नालंदा में भी सुबह से ही इसका असर देखने को मिला। बिहारशरीफ में बंद के समर्थन में माले कार्यकर्ता सुबह 6 बजे ही सड़क पर उतर गए।

दरभंगा के लहेरियासराय स्टेशन पर कोलकाता-जयनगर गंगासागर एक्सप्रेस ट्रेन को रोका गया। इसके अलावा सहरसा में नंदलाली हाल्ट पर सहरसा-सुपौल जाने वाली ट्रेन को घंटों रोके रखा गया। बिहारशरीफ में दिल्ली जाने वाली श्रमजीवी एक्सप्रेस ट्रेन को भी रोका गया। दरभंगा में दरभंगा-नई दिल्ली बिहार संपर्क क्रांति सुपर फास्ट स्पेशल ट्रेन घंटों रुकी रही।

बेगूसराय में विभिन्न किसान संगठनों के भारत बंद का व्यापक असर पड़ा है। सुबह से ही आइसा, राजद, जाप और भाकपा समेत अन्य दलों के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए। प्रदर्शनकारियों ने एनएच-31 एवं एनएच-28 को कई जगहों पर जाम कर दिया। जिसके कारण यातायात पूरी तरह से ठप हो गया है। अति आवश्यक काम से जा रहे लोगों को भी काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। बंद को लेकर प्रशासन एक्टिव मोड में है, इसके बावजूद उपद्रव के मद्देनजर बाजार में दुकानें कम ही खुली हैं।

भारत बंद के समर्थन में खगड़िया में राजद कार्यकर्ता सुबह 6 बजे से सड़क पर उतर गए। राजेंद्र चौक पर यातायात को पूरी तरह से बाधित करने के लिए बड़ी संख्या में ट्रकों को बेतरतीब तरीके से खड़ा करवा दिया गया है। इसका असर थोड़ी देर में ही दिखने लगा। वाहनों की कतार लगनी शुरू हो गई। उधर, नालंदा में राजद कार्यकर्ता सुबह ही झंडा बैनर लेकर सड़कों पर उतर गए और जमकर विरोध किया। राष्ट्रीय राजमार्ग चोरा बागीचा के पास जमकर हंगामा किया गया। कार्यकर्ताओं ने सड़क पर टायर जलाकर आगजनी के साथ नारेबाजी की। एनएच 78 पर समेरा के पास भी जमकर बवाल किया। राजद कार्यकर्ताओं ने राजगीर दिल्ली श्रमजीवी एक्सप्रेस को बिहारशरीफ में रोक दिया।

सहरसा में भी सुबह से हंगामे की स्थिति देखी गयी। नंदलाली हाल्ट पर सहरसा-सुपौल जाने वाली ट्र्रेन को रोक दिया गया। भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने ट्रेन रोककर जमकर नारेबाजी की। इससे लोगों को काफी परेशानी हुई। किसानों के नाम पर विरोध में राजनीतिक उबाल हर जगह देखने को मिल रहा है। इससे आम लोगों को काफी परेशानी हुई है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − 11 =