मनीष शुक्ला के हत्यारों के साथ तृणमूल नेताओं की मिलीभगतः अर्जुन सिंह

06/10/2020,9:15:05 PM.

कोलकाताहिंदी.कॉम

कोलकाताः राजनीतिक हिंसा के दौर से गुजर रहे पश्चिम बंगाल में रविवार की रात उत्तर 24 परगना जिले के टीटागढ़ में भाजपा नेता की गोली मार कर हत्या किये जाने के बाद से राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप चरम पर है। भाजपा ने हत्या के बाद से इसके लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेवार बताया है। अब बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह ने कई फोटो जारी कर यह साबित करने की कोशिश की है कि हत्या के मुख्य आरोपी से तृणमूल नेताओं की मिलीभगत है और उनके इशारे पर ही मनीष की हत्या की गई है।

टीटागढ़ शूटआउट में अपने करीबी सहयोगी को खोने के बाद अर्जुन सिंह ने मंगलवार अपराह्न एक प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि मनीष की हत्या के पीछे तृणमूल के कई नेता शामिल है और इसे मोहम्मद खुर्रम ने अंजाम दिया, वह भी तृणमूल का स्थानीय नेता है। उन्होंने अपने मोबाइल में कई फोटो दिखाते हुुए कहा कि खुर्रम के साथ राज्य के मंत्री फिरहाद हकीम, पूर्व मंत्री मदन मित्र, पूर्व तृणमूल सांसद दिनेश त्रिवेदी और ब्रात्य बसु, निर्मल घोष का संबंध है। अर्जुन ने यह भी कहा कि हत्या को अंजाम देने में पुलिस की भी भूमिका है।

भाजपा सांसद ने मनीष की हत्या के लिए सीआईडी की जांच पर भी सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि जांच को इसलिए सीआईडी को दिया गया है ताकि मामले को दबाया जा सके। सीआईडी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के इशारे पर काम करता है। उसकी जांच से कुछ निकलने वाला नहीं है।

मालूम हो कि मनीष शुक्ला हत्याकांड के सिलसिले में सीआईडी ने मोहम्मद खुर्रम और गुलाब शेख को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि खुर्रम के साथ मनीष की पुरानी रंजिश थी। पुलिस को शक है कि पुरानी रंजिश के कारण ही खुर्रम ने मनीष की हत्या कराई है। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल एक बाइक की पहचान कर हत्यारों तक पहुंचने का दावा किया है। वहीं इधर मनीष के परिवार द्वारा आठ लोगों के खिलाफ नामजद अभियुक्त बनाया गया है। इनमें मोहम्मद खुर्रम के अलावा कई तृणमूल नेताओं के नाम भी शामिल हैं।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four − three =