ममता बनर्जी के शासनकाल में 200 किसानों ने की खुदकुशी: विमान बसु

08/12/2020,12:40:41 PM.

 

कोलकाता: केंद्रीय कृषि कानून के खिलाफ मंगलवार को देशव्यापी बंद को भाजपा को छोड़ लगभग तमाम राजनीतिक दलों ने समर्थन दिया है। राज्य में भी इस बंद को समर्थन मिल रहा है। वामपंथी कार्यकर्ता कोलकाता में विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं जगह-जगह ट्रेनें रोकी जा रही हैं। राज्य में बंद को वामपंथी संगठनों का पूर्ण समर्थन मिल रहा है। वामो समर्थक कोलकाता समेत पूरे राज्य में बंद को सफल बनाने के लिए सक्रिय हैं। उल्लेखऩीय है कि तृणमूल कांग्रेस भी इस बंद को नैतिक तौर पर समर्थन दे रही है। कृषि कानून के खिलाफ ब्लाक स्तर पर पार्टी समर्थक धर्ना दे रहे हैं।

इस दिन राज्य वाममोर्चा के चेयरमैन बिमान बसु ने राज्य में किसानों की दयनीय स्थिति पर तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा। बसु ने कहा, ममता बनर्जी के शासनकाल में किसानों की स्थिति दयनीय हुई है। उनके शासन में 200 किसानों ने आत्महत्याएं की हैं। वह खुद अपनी पार्टी की नीतियों के अनुसार काम नहीं कर रही हैं। राज्य में किसानों की स्थिति पर सरकार यदि इतनी गंभीर होती तो इतनी बड़ी संख्या में किसान अपनी जान नहीं गंवाते।

उन्होंने कहा देश भर के लोग किसानों के इस आंदोलन को समर्थन दे रहे हैं। किसान दिल्ली में पिछले 13 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। तब से भाजपा को छोड़कर भारत में लगभग सभी दलों ने किसानों के प्रतिबंध का समर्थन किया है। बंगालें भी किसानों के आंदोलन को पूरजोर समर्थऩ मिल रहा है। कहा, मैं किसानों के इस आंदोलन की सफलता का कामना करता हूं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × five =