ममता ने नाराज शुभेंदु से फोन पर की बात, क्या पार्टी में बने रहेंगे शुभेंदु ?

02/12/2020,11:34:28 AM.

 

सांसद सौगत राय ने कहा, मिट गईं सारी समस्याएं

हालांकि, अबतक शुभेंदु का नहीं आया है कोई बयान

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस के कद्दावर व बागी नेता शुभेंदु अधिकारी को मनाने के लिए पार्टी हर मुमकिन कोशिश कर रही है। मंगलवार देर रात शुभेंदु अधिकारी, सांसद अभिषेक बनर्जी के बीच कोलकाता में एक बैठक हुई। इस दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने फोन पर शुभेंदु से बातचीत की। दो घंटे तक चली इस बैठक में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर, तृणमूल सांसद, सौगत राय और सुदीप बंद्योपाध्याय भी मौजूद रहे। बैठक उत्तर कोलकाता के श्यामबाजार स्थित एक घर में हुई।

शुभेंदु और अभिषेक के बीच आमने-सामने की इस बैठक के बाद पार्टी यह दावा कर रही है कि जो समस्याएं थी, उनका निदान हो चुका है। पार्टी सांसद सौगत राय ने कहा, दोनों नेताओं ने अपनी समस्याओं को सुलझा लिया है। हालांकि इस मामले में अबतक शुभेंदु का कोई बयान नहीं आया है।

राज्य के राजनीतिक गलियारे में यह चर्चा है कि क्या मंगलवार की रात को हुई इस बैठक के बाद राज्य की राजनीतिक स्थितियां बदल गई हैं। जानकारों की माने तो अभी फिलहाल इस मामले में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।

दो घंटे तक चली इस बैठक के दौरान अभिषेक बनर्जी ने खुद अपने फोन से शुभेंदु की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात करवाई। इस बारे में सौगत रॉय का दावा है कि “सभी समस्याओं का समाधान निकाल लिया गया है। शुभेंदु ने कहा कि वह पार्टी नहीं छोड़ रहे हैं। वह विधायक का पद नहीं छोड़ रहे हैं। लेकिन अबतक खुद शुभेंदा का कोई बयान नहीं आया है।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि जिस तरह से पांच जिलों में शुभेंदु पर्यवेक्षक थे, अभिषेक या प्रशांत उम्मीदवारों के चयन में हस्तक्षेप नहीं करेंगे। बता दें कि इन मुद्दों पर शुभेंदु को सबसे अधिक आपत्ति थी। शुभेंदु ने बैठक में कहा कि वह या वे लोग (ममता) को देखकर ही पार्टी करते हैं। कहा, उनके लिए दूसरों के निर्देशों या हस्तक्षेपों को स्वीकार करना मुश्किल है। सूत्रों के मुताबिक बैठक की शुरुआत में अभिषेक ने शुभेंदु से हाथ मिलाया और कहा, “सभी मिलकर पार्टी को आगे बढ़ाते हैं। पार्टी की भलाई सबसे अहम है, जो कि सभी चाहते हैं।”

सूत्रों के मुताबिक फोन पर ममता ने शुभेंदु से कहा कि विधानसभा चुनाव की कठिन चुनौती सामने है। अब सभी को मिलकर काम करना होगा। ममता ने शुभेंदु को बताया कि उनकी 7 दिसंबर को मेदिनीपुर में एक बैठक है। पूर्व और पश्चिम मिदनापुर के सभी तृणमूल विधायकों को उस बैठक में आने के लिए कहा गया है। शुभेंदु को भी उस बैठक में आना चाहिए। ममता के इस आवेदन का शुभेंदु ने क्या जवाब दिया है, इसकी जानकारी अबतक नहीं मिल पाई है। हालांकि एक बात स्पष्ट है कि अगले दो-तीन दिन राज्य की राजनीति में कौतूहल का माहौल बना रहने वाला है।

इधऱ शुभेंदु के पिता व तृणमूल सांसद शिशिर अधिकारी ने भी कहा,” एक समस्या थी, लेकिन समस्या हल हो जाए तो बेहतर है। यह पार्टी के लिए अच्छा होगा।” तृणमूल सांसद कल्याण बनर्जी लगातार शुभेंदु पर हमला कर रहे थे। मंगलवार को बैठक के बाद, कल्याण ने भी कहा, “इससे बेहतर कोई खबर नहीं हो सकती है। मैं इस बैठक का स्वागत करता हूं। ’’ कल्याण ने कहा कि वह अतीत की बातों को याद नहीं करना चाहते।

 

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four − two =