मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दो दिवसीय दौरे पर जाएंगी बांकुड़ा

18/11/2020,8:52:20 PM.

 

बांकुड़ा: मुख्यमंत्री और तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी दो दिवसीय यात्रा पर बांकुड़ा आ रही हैं। हालांकि विधानसभा चुनाव की तारीख तय नहीं की गयी है, लेकिन विशेषज्ञ इस यात्रा को चुनाव से पहले की यात्रा मान रहे हैं।

तृणमूल कांग्रेस सूत्रों के अनुसार ममता बनर्जी 24 और 25 नवम्बर को बांकुड़ा में रहेंगी। 24 नवम्बर को एक प्रशासनिक बैठक, 25 नवम्बर को एक सार्वजनिक जनसभा करेंगी। यह जनसभा स्थल का निरीक्षण करने के लिए बुधवार को शुनुक पहाड़ी मैदान का दौरा राज्य पंचायत और ग्रामीण विकास के जिलाध्यक्ष और राज्य मंत्री श्यामल सांतरा ने किया है। इस दौरान उनके साथ जिला पुलिस सुपर कोटेश्वर राव, जिला परिषद अध्यक्ष मृत्युंजय मुर्मू, मेंटर अरुप चक्रवर्ती, विधायक शम्पा दरिपा और पार्टी के अन्य नेता मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि इसी शुनुक पहाड़ी मैदान में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 2018 के पंचायत चुनावों से पहले जनसभा की थी। बांकुड़ा जिले के केवल आदिवासी मतदाता ही नहीं बल्कि साधारण मतदाता भी तृणमूल कांग्रेस को नापसंद करते हैं यह 2016 के विधानसभा चुनाव में प्रमाणित हो चुका था। लोकसभा चुनावों में भी यही प्रवृत्ति जारी रही। 2011 में बांकुड़ा में 13 विधानसभा सीटें थीं। तृणमूल ने यहा चुनाव लालमाटी के लाल दुर्ग से 10-03 से सीटे जीती थी। 2016 में 12 विधानसभा सीटें थीं। माकपा को मिली पांच सीटों से हार मिली थी। हालांकि पंचायत चुनावों में कोई वोट नहीं था, लेकिन जंगलमहल में जो चुनाव हुआ था और भाजपा को जिस तरह से उत्थान मिला था। उसके बाद भी तृणमूल ने उस क्षेत्र में भाजपा के उदय से अपना विश्वास नहीं खोया।

विशेषज्ञों का मानना है कि अमित शाह की बांकुड़ा यात्रा और एक आदिवासी घर में उनके भोजन और बिरसा मुंडा को भगवान के रूप में श्रद्धांजलि देने के बाद, तृणमूल कांग्रेस का स्वर बदला हुआ लग रहा है। अमित साहा के कार्यक्रम के तुरंत बाद ही, तृणमूल के जिले के नेताओं ने आदिवासियों को लुभाने के लिए पोयाबागान में बिरसा मुंडा की 45 फुट ऊंची प्रतिमा स्थापित करने की पहल की है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस जनसभा से मुख्यमंत्री मतदाताओं को लुभाने की कोशिश करेंगी।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + 4 =