मैंने साधन पांडे को समझाया कि छोटी-छोटी बातों में न उलझे : फिरहाद हकीम

05/12/2020,9:01:19 PM.

 

कोलकाता: “दुआरे-दुआरे सरकार” को केंद्र कर तृणमूल का आपसी गुटबाजी फिर सामने आयी है। शनिवार को मंत्री साधन पांडे के सामने दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। इस दौरान उनसे सवाल पूछने पर उन्होंने एक पत्रकार को भी अपमानित किया।

फिरहाद हकीम ने पूरे मामले पर नाराजगी जताते हुए कहा कि साधन पांडे आमतौर पर एक वरिष्ठ नेता एक लंबे समय तक विधायक और वर्तमान सरकार में मंत्री रहे हैं। हमने उन्हें समझाया है कि इस तरह की छोटी-छोटी बातों में न उलझे। इतने बड़े शहर और राज्य में कई समस्याएं हैं। फिरहाद ने आगे कहा कि ममता बनर्जी एक नया बंगाल बना रही हैं। हम सभी को उस कर्म यज्ञ में कंधे से कंधा मिलाकर काम करना होगा। हमें साथ मिलकर काम करना होगा।
दरअसल शनिवार को कोलकाता नगरपालिका के 13 नम्बर वार्ड में “दुआरे-दुआरे सरकार” कार्यक्रम में वार्ड कॉर्डिनेटर आनिंद्यकिशोर राउत और उनके सहयोगी मौजूद थे। मंत्री साधन पांडे और उनके सहयोगी वहां पहुचे। उसके बाद, दोनों पक्ष मंत्री के सामने ही बहस में हो गयी देखते ही देखते बात हाथापाई तक पहुंच गयी।
यह पूछे जाने पर कि मंत्री की मौजूदगी में यह घटना क्यों हुई, पत्रकार को धक्का दे दिया गया जिसके बाद उक्त पत्रकार जमीन पर गिर गया। उसके हाथ से बूम भी गिर गया। आसपास के लोगों ने उसकी मदद के लिए हाथ बढ़ाया। पानी की व्यवस्था की। इस घटना के न तो कोऑर्डिनेटर और न ही मंत्री किसी ने भी इस पर टिप्पणी नही की।

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को भी, वार्ड नंबर 14 में, “दुआरे-दुआरे सरकार” कार्यक्रम को केंद्र कर तृणमूल कांग्रेस की आपसी गुटबाजी खुलकर सामने आई थी। दस्तावेज फाड़ दिए गए थे। साधनबाबू के सहयोगियों ने आरोप लगाया था कि पूर्व पार्षद के सहयोगियों ने लाइन तोड़कर अपने रिश्तेदारों के नाम दर्ज करना शुरू कर दिया। इससे अराजकता पैदा हो गई। जिसके बाद मंत्री ने आकर नाम दर्ज करने की प्रक्रिया रोक दी। वहीं पूर्व पार्षद का आरोप है कि मंत्री ने आकर पूरी प्रक्रिया को बाधित किया और दस्तावेजों को फाड़ दिया। परिस्थिति को नियंत्रित करने के लिए मानिकतला थाने की पुलिस भी मौके पर पहुचीं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − ten =