रोजवैली कांड में दो साल बाद मिली श्रीकांत मोहता को जमानत

11/01/2021,5:13:13 PM.

कोलकाताः  हजारों करोड़ रुपये के रोजवैली चिटफंड घोटाला मामले में संलिप्तता के आरोप में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के हाथों गिरफ्तार फिल्म निर्देशक श्रीकांत मोहता को आखिरकार दो सालों बाद सोमवार को जमानत मिल गई है। बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री की बहुचर्चित प्रायोजक संस्था श्री वेंकटेश फिल्म्स के कर्णधार श्रीकांत मोहता को 2019 के जनवरी महीने में गिरफ्तार कर लिया गया था। उसके बाद सीबीआई उन्हें ओडिशा के भुवनेश्वर ले जाकर वही जेल में रखी थी। अब सोमवार को उन्हें जमानत मिल गई है। पारिवारिक सूत्रों ने बताया है कि मंगलवार या बुधवार को वह जेल से रिहा होकर कोलकाता लौट सकते हैं।

श्रीकांत मोहता का बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री में काफी प्रभाव है और सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस की मुखिया ममता बनर्जी के भी करीबी माने जाते हैं। उनकी गिरफ्तारी के बाद ममता ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर सवाल खड़ा किया था और कहा था कि राजनीतिक वजह से श्रीकांत मोहता को पकड़ा गया है।

चिटफंड कंपनी से 25 करोड़ रुपये लेने का आरोप
रोजवैली चिटफंड घोटाला मामले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय ने धन शोधन की जांच के सिलसिले में श्रीकांत मोहता की संलिप्तता उजागर की थी। इसके बाद ही रोज वैली मामले में जेल में बंद चिटफंड समूह के मालिक गौतम कुंडू से पूछताछ की गई थी। कुंडू ने बताया था कि रोजवैली ग्रुप के टेलीविजन चैनल के साथ 2010 में श्रीकांत मोहता की प्रायोजक संस्था ने निबंधन किया था। उसी के मुताबिक 25 करोड़ रुपये का लेनदेन हुआ था। आरोप है कि इस रुपये को श्रीकांत मोहता गबन कर गए थे। बताया गया था कि इसी 25 करोड़ से रोजवैली चिटफंड समूह के पक्ष में प्रचार फिल्म बनाई जानी थी लेकिन ऐसा नहीं किया गया। मोहता सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के करीबी थे इसीलिए चिटफंड कंपनी ने उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। इसी मामले में पूछताछ के बाद सीबीआई ने श्रीकांत को गिरफ्तार किया था।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 + six =