शुभेंदु पर निर्भर करता है, तृणमूल छोड़ेंगे या आत्मसमर्पण करेंगे- सांयतन बसु

02/12/2020,2:08:12 PM.

 

 

 

कोलकाता: शुभेंदु अधिकारी पार्टी छोड़ेंगे या अपनी पार्टी के समक्ष आत्मसमर्पण करेंगे यह उनपर निर्भर करता है। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि वह क्या करेेंगे। हमारी पार्टी में व्यक्ति विशेष का कोई प्रभाव नहीं है। कोई भी व्यक्ति आए, रहे, ना रहे, चले जाए पर पार्टी पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। राज्य भाजपा के महासचिव सायंतन बसु ने बुधवार सुबह मध्य हावड़ा में ‘चाय पे चरचा’ कार्यक्रम में भाग लेने के दौरान संवाददाताओं के सवाल के जवाब में उक्त टिप्पणी की।

सयानतन बसु ने कहा, अभी यह समझने का वक्त नहीं है कि वह पार्टी छोड़ेेंगा या नहीं। कल मैंने टीवी पर जो देखा कि तृणमूल के एक सांसद इस मामले में कुछ कह रहे हैं। मैंने शुभेंदु अधिकारी या किसी और की टिप्पणी अबतक नहीं सुनी है। इसलिए हमारे लिए कुछ भी कहना मुमकिन नहीं है।

मैं सिर्फ इतना कहूंगा कि हमारा दरवाजा उन लोगों के लिए खुला रहेगा जो राजनीतिक लड़ाई लड़ना चाहते हैं। लोगों ने राज्य में इस दमनकारी हिटलर सरकार के खिलाफ आह्वान किया है। शुभेंदु आगामी सात दिसंबर को ममता की मेदिनीपुर रैली में रहेंगे, इस सवाल पर सायनतन ने कहा, “यह देखा जाएगा कि शुभेंदु अधिकारी आगामी 7 दिसंबर को क्या करेंगे। उन्होंने अभी मंत्रालय छोड़ दिया है। उन्होंने पार्टी नहीं छोड़ी है।”यह उनके ऊपर है कि वे पार्टी में रहेंगे या नहीं।”

राज्य सरकार के ‘दुआरे दुआरे सराकर’ कार्यक्रम के बारे में संवाददाताओं द्वारा पूछे जाने पर सांयतनु ने कहा, अगर लोगों के घर जाना ही था तो 10 साल के क्यों नहीं गए। उन्होंने कहा, तृणमूल नेताओं ने घर बनाने और नौकरी दिलाने के लिए पैसे लिए हैं। अब अगर उन नेताओं को लोग दरवाजे पर देखेंगे, तो लोग उन्हें पेड़ों से बांध देंगे। वे उन्हें लैंप पोस्ट से बांध देंगे। सयानतन ने कहा, “पीके को 500 करोड़ रुपये दिए गए हैं। यह बंगाल के लोगों का पैसा है, इसे वापस करना होगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + five =