सीबीआई अभियान के बाद अंडरग्राउंड हुए अधिकांश कोयला कारोबारी 

30/11/2020,12:51:49 PM.

कोलकाता: शनिवार को कोलाकाता, आसनसोल, रानीगंज समेत राज्य के 30 जगहों पर चले सीबीआई ऑपरेशन के बाद कोयला कारोबारियों में खलबली मची है। अधिकांश कोयला कारोबारी अंडरग्राउंड हो गए हैं। उनका कहना है कि फिलहाल इस परिस्थिति में कारोबार करना मुमकिन नहीं है, किसी तरह खुद को बचाए रखना ही अभी उनका मुख्य उद्देश्य है।

बता दें कि सीबीआई ने शनिवार को देश के अन्य राज्यों समेत बंगाल के विभिन्न स्थानों पर छापेमारी की थी। पश्चिम बर्दवान के जमुड़िया स्थित श्रीपुर में घर पर छापेमारी के दौरान ईसीएल के सुरक्षा अधिकारी धनंजय कुमार रॉय बीमार पड़ गए और बाद में उनकी मौत हो गई। हाल ही में राज्य में आए गृह मंत्री अमित शाह ने अवैध कोयला कारोबार को लेकर जिसका नाम लिया था, यानी लाला (अनूप कुमार माझी) के पुरुलिया स्थित नितुरिया के भामुरिया में भी छापामारी अभियान चलाया गया था।

कोयले तस्करों के अनुसार साल 2009 में जमुड़िया में कोयले के आठ अवैध कुओं में लगी आग के बात तीन माह और साल 2011 में राज्य की सत्ता में परिवर्तन के कुछ दिनों तक कोयले के कारोबार में अनिश्चितता की स्थिति बनी रही। अब एक बार फिर से वहीं स्थिति बन गई है। कोयला तस्करों के अनुसार फिलहाल इस स्थिति में कारोबार करना मुश्किल है। अभी खुद को बचाए रखना ही मुख्य उद्देश्य है।

इधर, स्थानीय सूत्रों के अनुसार मृतक ईसीएल अधिकारी धनंजय राय का परिवार उत्तर प्रदेश के बलिया में अपने मूल घर के लिए रवाना हो गया है। उनके कोई भी सहयोगी सीबीआई छापे के बारे में कुछ भी कहने को राजी नहीं है। लाला के गांव भामुरिया में शनिवार की छापेमारी के दौरान लोग घऱों से नहीं निकले। हालांकि रविवार को कई लोगों को बाहर देखा गया।

इधऱ अभियान के लिए अमित शाह को धन्यवाद देते हुए आसनसोल के भाजपा सांसद और केंद्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रिया ने सोशल मीडिया पर अवैध कोयला व्यापार में तृणमूल नेताओं के शामिल होने का आरोप लगाया। बाबूल के आरोपों का खंडन करते हुए तृणमूल पश्चिम बर्दवान के जिला अध्यक्ष जितेंद्र तिवारी ने दावा किया, “हमारी पार्टी कभी भी किसी अवैध कारोबार को बढ़ावा नहीं देती है। शनिवार को छापामारी अभियान में केंद्रीय संस्था ईसीएल के कर्मचारियों को निशाना बनाया गया। हालांकि इस पूरे मामले पर ईसीएल के अधिकारियों ने कुछ भी कहने से साफ मना कर दिया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − seven =