सुशांत की मौत के दो माह पूरे, पर सवाल जस का तस- कैसी हुई मौत?

14/08/2020,8:01:31 PM.

कोलकाताहिंदी.कॉम

कोलकाताः हिंदी सिनेमा के चमकते युवा सितारे सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के आज दो महीने हो गए लेकिन सवाल अभी भी हवा में मंडरा रहा है कि सुशांत की मौत कैसी हुई और इसके लिए कौन जिम्मेवार है।

इन दो महीने जो लोग सुशांत के बारे में ज्यादा नहीं जानते थे, वे भी इस युवा सितारे के बारे में जानना चाहते हैं कि आखिर सुशांत सिंह की मौत का राज क्या है। क्या उन्होंने सचमुच में आत्महत्या की, या फिर उनकी हत्या हुई। अगर उन्होंने आत्महत्या की तो क्यों की, और क्या उन्हें साजिशन उस ओर जाने को मजबूर किया गया? या फिर सुशांत की हत्या हुई है, जैसा कि अब उनके परिवार के लोग बता रहे हैं। और, हत्या हुई है तो किसने की और किस लिए?

इन सवालों को पेचीदा बनाने में सबसे बड़ी भूमिका निभाई मुंबई पुलिस ने। उसने तुरंत ही घोषित कर दी कि सुशांत ने आत्महत्या की है। और इसके पीछे सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया द्वारा उसके अवसाद में रहने की बात को ही सटीक मानते हुए अपनी जांच की दिशा उस ओर मोड़ दी। रिया और उसके करीबियों ने सुशांत की मौत से पहले ही यह बात मुंबई फिल्म इंडस्ट्री व मीडिया में फैला दी थी कि सुशांत अवसाद से पीड़ित हैं और डॉक्टरों से इलाज करा रहे हैं। यह भी कहा गया कि सुशांत को फिल्म इंडस्ट्री से निकालने के लिए कई बड़े हाउसों उनपर प्रतिबंधित कर दिया। इससे सुशांत ज्यादा परेशान थे।

मुंबई पुलिस की भटकाऊ जांच-पड़ताल

मजे की बात है कि मुंबई पुलिस शुरू से ही सुसाइड थ्योरी की दिशा में काम कर रही थी। और उसने महेश भट्ट, आदित्य चोपड़ा, संजय लीला भंसाली समेत कई बड़े फिल्म निर्माताओं से पूछताछ की। आज मुंबई पुलिस कहती है कि उसने अपनी जांच में 55 से अधिक लोगों से पूछताछ की है। लेकिन उसने यही स्टैंड रखा कि सुशांत ने आत्महत्या की है। लेकिन मुंबई पुलिस के दावे की तब हवा निकलने लगी जब सुशांत के प्रशंसकों ने उस पर विश्वास करना छोड़ दिया और सीबीआई जांच की मांग शुरू कर दी। शुरुआत में शेखर सुमन ने इसे अभियान की तरह चलाया और इससे कई लोग जुड़ते गए। अब जोर-शोर से मुंबई पुलिस के दावे पर सवाल उठाए जाने लगे और कई तरफ से कहा जाने लगा कि सुशांत की हत्या हुई है। यहां तक कि सफेद कपड़े में आकर रिया चक्रवर्ती ने भी एक भली लड़की की नौटंकी करते हुए वीडियो पोस्ट कर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से सीबीआई जांच की मांग कर डाली।

सुशांत के पिता ने रिया पर लगाए गंभीर आरोप 

लेकिन सुशांत केस में तब नया मोड़ आ गया जब उनके पिता केके सिंह ने 25 जुलाई को पटना में एफआईआर दर्ज कराकर रिया पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने अपने बेटे की मौत के लिए ना सिर्फ रिया को जिम्मेवार बताया बल्कि यह भी कहा कि उसने ने सुशांत के अकाउंट से 15 करोड़ रुपये का गबन किया है। प्रवर्तन निदेशालय ने इसे मनी लॉन्ड्रिंग का केस मानते हुए जांच शुरू कर दी। इसके बाद परत-दर-परत कई राज खुलने लगे। कई समाचार चैनलों और अखबारों ने इसमें अपने स्टिंग ऑपरेशन व खोजी रपटों से चौंकने वाले खुलासे किये।

रिया चक्रवर्ती मुख्य विलेन बनकर उभरी

अब मुंबई पुलिस के सुसाइड वाले सिद्धांत से उलट यह दिख रहा है कि सुशांत की हत्या की गई है। और धीरे-धीरे सुशांत और रिया के संबंधों का राज बाहर आने लगा। यह भी खुलासा हुआ कि कैसे रिया ना सिर्फ सुशांत की जिंदगी को कंट्रोल कर रही थी, बल्कि उसके अकाउंट से पैसे का भी इस्तेमाल कर रही थी। केके सिंह ने रिया पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उसने जानबूझकर सुशांत को अवसाद की दवा दी। डॉक्टरों को दिखाया। वह जादू-टोना करती थी। और इसमें उसका पूरा परिवार शामिल था। धीरे-धीरे यह भी खुलासा हुआ कि सुशांत के पैसे कैसे रिया ने मौज-मस्ती की। उसने सुशांत से कई कंपनियां खुलवाईं और उनमें वह स्वयं डायरेटर बनने के साथ अपने भाई और पिता को भी शामिल कराये। यहां तक मालिकना भी भाई के नाम कराया। इन सारे खुलासे के बाद सुशांत को न्याय दिलाने के लिए उनके प्रशंसक जो अभियान चला रहे थे, अब उनका रिया पर गुस्सा फूट पड़ा। उसकी गिरफ्तारी की मांग होने लगी। सुशांत मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग और जोर पकड़ने लगी।

सुशांत और दिशा सालयान की मौतों में संबंध 

और इस बीच सुशांत की पूर्व मैनेजर दिशा सालयन की आत्महत्या को लेकर सवाल उठने लगे। सुशांत और दिशा की की कथित आत्महत्याों को लेकर जोड़ा जाने लगा। और कुछ-कुछ यह दिखने लगा कि दोनों की मौतों में कहीं ना कहीं संबंध है। सुशांत की मौत से एक सप्ताह पहले आठ जून को दिशा की मौत हुई थी। पुलिस ने तब कहा था कि उसने 14वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या की है। पुलिस ने उसकी लाश का पोस्टमार्टम दो दिन बाद कराया था। मीडिया में उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के जरिये खुलासा किया गया कि उसकी लाश जब देखी गई तो उसके बदन पर कपड़े नहीं थे। इससे यह आशंका पैदा हुई कि उसका रेप हुआ है और इसे छिपाने के लिए उसकी हत्या की गई है। हालांकि मुंबई पुलिस इससे इनकार करती रही है। कहा गया कि  रेप की बात को दिशा ने सुशांत को बताया था। और वह इस संबंध में प्रेस कांफ्रेंस करना चाहता था। दिशा के मामले में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकर के पुत्र आदित्य ठाकरे का जुड़ गया। कहा गया कि दिशा की मौत की रात उसके दोस्त के घर में एक पार्टी हुई थी और वहां आदित्य मौजूद थे। लेकिन बाद आदित्य ने एक बयान जारी कर इससे इनकार कर दिया।

मुंबई पुलिस व बिहार पुलिस में घमासान

25 जुलाई को सुशांत के पिता द्वारा पटना में मामला दर्ज कराने के एक दिन बाद ही पटना के चार पुलिस अधिकारी जांच के लिए मुंबई पहुंच गए। लेकिन मुंबई में उन्हें जांच में वहां की पुलिस ने सहयोग नहीं किया। बिहार पुलिस के अधिकारियों ने रिया को खोजने की कोशिश की लेकिन वह गायब रही। मुंबई पुलिस ने ना सिर्फ असहयोग किया बल्कि बिहार पुलिस के अधिकारियों के साथ बदसलूकी भी की। हद तो तब हो गई जब जांच को गति देने के लिए पटना के तेज-तर्रार आईपीएस अफसर विनय तिवारी को मुंबई पहुंचे। जिस रात वह मुंबई पहुंचे उसी रात उन्हें मुंबई महानगरपालिका के अधिकारियों ने उनके हाथ पर क्वारंटाइन का स्टांप लगाकर एक तरह से बंदी बना लिया। उनके निकलने पर पाबंदी लगा दी गई। इससे महाराष्ट्र सरकार और बिहार सरकार में तकरार बढ़ गयी। मामला पूरी तरह से राजनीतिक हो गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुस्से में कहा- यह ठीक नहीं हुआ।

सीबीआई जांच की सिफारिश

आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को क्वारंटाइन के नाम पर बंदी बनाए जाने से क्षुब्ध बिहार सरकार ने सुशांत मामले की केंद्र से सीबीआई जांच सिफारिश कर दी। केंद्र ने भी इसे मंजूरी दे दी। लेकिन इसके पहले ही मामला तब सुप्रीम कोर्ट में चला गया था जब रिया चक्रवर्ती ने गिरफ्तारी के डर से एक याचिका डालकर पटना से आईएफआर को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग कर दी। लेकिन सुशांत के पिता और बिहार सरकार ने इसपर विरोध दर्ज कराते हुए आवेदन दे दिये। वहीं महाराष्ट्र सरकार ने भी रिया का पक्ष लेते हुए एक आवेदन दिया। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है। कोर्ट ने अभी अपना आदेश नहीं दिया। कोर्ट ने कहा है कि सच सानने आना चाहिए। संभवतः सोमवार को आदेश आ जाए। सुशांत के पूरे फैन की नजर सुप्रीम कोर्ट पर टिकी है कि सुप्रीम कोर्ट सीबीआई जांच के आदेश पर क्या राय देता है।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × four =