सुशांत मामले की लड़ाई राजनीति नहीं, न्याय सुनिश्चित करना मकसदः नीतीश

19/08/2020,5:30:24 PM.

कोलकाताहिंदी.कॉम

कोलकाताः सुप्रीम कोर्ट से अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध जांच के संबंध में सीबीआई जांच के हक में फैसला आने पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि यह लड़ाई कोई राजनीतिक नहीं थी, बल्कि न्याय से जुड़ा मामला था। यह सुनिश्चिंत करना था कि सुशांत के परिवार को न्याय मिले।

सुप्रीम कोर्ट ने आज सुबह अपने फैसले में कहा कि सुशांत के मामले में पटना में एफआईआर दर्ज होना टीक है। इसमें कोई गलती नहीं है। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार की याचिका को अस्वीकार करते हुए बिहार सरकार द्वारा सीबीआई जांच की सिफारिश और केंद्र द्वारा इसे स्वीकार करने के फैसले पर भी मुहर लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यह जरूरी है कि सच सामने आए और न्याय मिले। इसलिए सीबीआई जांच होगी। सुप्रीम कोर्ट का फैसला बिहार सरकार के पक्ष में आने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह न्याय के हित में है।

उन्होंने समाचार एजेंसी एएआई से कहा कि सुशांत मामले से जु़ड़ी चीजें राजनीति से नहीं जुड़ी थीं, वे न्याय का विषय हैं। हमारा ध्यान सुशांत के परिवार को न्याय दिलाना है। इस मामले में जो कुछ कहा गया, वह ठीक नहीं है। लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जांच में तेजी आएगी। नीतीश ने यह भी कहा कि आज यह साबित हो गया कि हमने कानून के हिसाब से कदम उठाए थे।

कुमार ने कहा कि कोर्ट का फैसला यह भी दिखाता है कि मुंबई पुलिस सुशांत मामले को गलत तरीके से देख रही थी। उसने बिहार पुलिस को जांच में भी सहयोग नहीं किया। यह मुंबई पुलिस का गलत रवैया था। उन्होंने कहा कि जब पटना में केस दर्ज कराया गया तो यह बिहार पुलिस का दायित्व था कि वह मामले की जांच करे। बिहार के आईपीएस अफसर के साथ कैसा व्यवहार किया गया, यह हम सभी ने देखा है। सुप्रीम कोर्ट का निर्देश बिलकुल स्पष्ट है। लेकिन इस संबंध में कोई राजनीतिक बयान नहीं देंगे।

मालूम हो कि 25 जुलाई को सुशांत के पिता केके सिंह ने पटना में रिया चक्रवर्ती को सुशांत की मौत के लिए जिम्मेवार बताते हुए केस दर्ज कराया था। इस केस के दर्ज होने के बाद पटना से पुलिस की टीम जांच के लिए मुंबई गई थी लेकिन उसे मुंबई पुलिस का सहयोग नहीं मिला। जब आईपीएस अफसर विनय तिवारी मुंबई मामले की जांच में गति देने पहुंचे तो उन्हें उसी रात जबरन क्वारंटाइन कर होटल से निकलने से मना कर दिया गया। इस पर बिहार में तीखी प्रतिक्रया हुई। नीतीश कुमार ने कहा था कि यह ठीक नहीं। इसके बाद ही नीतीश सरकार ने सुशांत मामले की सीबीआई जांच के लिए केंद्र को सिफारिश कर दी। इसे लेकर महाराष्ट्र में राजनीति गरमा गया है। शिवसेना ने कहा कि यह राजनीति की जा रही है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − 16 =