15092020

15/09/2020,4:48:22 PM.

-मेयर जितेंद्र तिवारी के बाद उनकी पत्नी  भी कोरोना पॉजिटिव

-चैताली तिवारी का भी इलाज कोलकाता में चल रहा है

इंट्रो—-आसनसोल नगर निगम के मेयर जितेंद्र तिवारी के बाद उनकी पत्नी चैताली तिवारी भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। उनका भी इलाज कोलकाता के एक अस्पताल में किया जा  रहा है। वहीं उन दोनों के जल्द ठीक होने के लिए पूजा-पाठ का दौर जारी है

वीओ—-आसनसोल के प्रथम नागरिक जितेंद्र तिवारी के घर में कोरोना ने डेरा डाल लिया है….पहले तो वह पॉजिटिव पाए गए, अब उनकी पत्नी चैताली तिवारी भी पॉजिटिव पाई गई हैं। मेयर की तरह ही उन्हें भी कोलकाता के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूत्रों का कहना है कि मेयर की तरह उनकी पत्नी की अवस्था भी ठीक है…..

इधर मेयर जितेंद्र तिवारी के कोरोना से जल्द ठीक होने के लिए उनके समर्थक और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता विभिन्न मंदिरों में पूजा-अर्चना कर रहे हैं। ऐसी ही एक पूजा मंगलवार की सुबह डिसरगढ़ के मां छिन्न मस्तिका मंदिर में की गई है। खास बात है कि आसनसोल नगर निगम के वार्ड नंबर 105 के काउंसिलर अभिजीत आचार्या और 104 की काउंसिलर इंद्राणी आचार्या की देखरेख में यह पूजा की गई है। मां छिन्न मस्तिका मंदिर में इस पूजा के दौरान काफी संख्या में इलाके के लोग मौजूद थे। इंद्रजीत और इंद्राणी आचार्या ने कहा कि उन्होंने मेयर के जल्द स्वस्थ होने के लिए मां छिन्नमस्तिका से कामना की है…बाइट


इसका अभी वीओ नहीं देना है

————–

 

-भाजपा युवा मोर्चा के नेता बाप्पा चटर्जी को नहीं मिली जमानत

-अब 14 दिनों के लिए जेल, ऊपरी कोर्ट में करेंगे अपील

 

इंट्रो— तीन दिन पहले गिरफ्तार किए गए भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश सचिव बाप्पा चटर्जी को जमानत नहीं मिल पाई है…..उन्हें आज आसनसोल कोर्ट में पेश किया गया था लेकिन जज ने जमानत देने से इनकार कर दिया है…

वीओ—–चार दिन पहले भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के सचिव बाप्पा चटर्जी को गिरफ्तार किया गया था। आसनसोल नगर निगम की शिकायत के बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया था। उन पर नगर निगम कार्यालय में लगे बोर्ड को लेकर सोशल मीडिया में भ्रामक प्रचार करने का आरोप था…बहरहाल बाप्पा चटर्जी की तीन दिन की पुलिस हिरासत की अवधि समाप्त होने के बाद ही उन्हें आज आसनसोल जिला कोर्ट में पेश किया गया….उनके वकील ने उनकी जमानत के संबंध में पैरवी की…वहीं पुलिस द्वारा इसका विरोध किया गया….

लेकिन कोर्ट ने फिलहाल बाप्पा चटर्जी को जमानत देने से इनकार कर दिया और उन्हें 14 दिनों के लिए जेल भेज दिया है…बाप्पा को जमानत नहीं मिलने से उनके परिवार और भाजपा नेता से लेकर कार्यकर्ता तक में मायूसी है। उनका आरोप है कि बाप्पा पर गलत पर इल्जाम लगाकर तृणमूल और मेयर द्वारा  गिरफ्तार कराया गया है। उन्होंने बाप्पा की रिहाई के लिए ऊपरी कोर्ट में जाने की बात कही है

—-गौरतलब है कि तीन दिन पहले बाप्पा की गिरफ्तारी के विरोध में भाजपा और युवा मोर्चा द्वारा आसनसोल-दुर्गापुर पुलिस कमिश्नरेट ऑाफिस के बाहर जबरदस्त धरना-प्रदर्शन किया गया था। इसमें विष्णुपुर के सांसद और युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सौमित्र खां भी शामिल हुए थे। उन्होंने बाप्पा चटर्जी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की खिंचाई की थी। साथ ही मेयर जितेंद्र तिवारी पर भी हमला बोला था।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × two =