भाजपा में शामिल होते ही ममता पर हमलावर हुए शुभेंदु, कहा-अगर किसी को मां कहना होगा तो भारतमाता को कहूंगा

19/12/2020,5:28:17 PM.

– मुख्यमंत्री के भतीजे अभिषेक बनर्जी को बताया तोलाबाज

कोलकाताः भारतीय जनता पार्टी में शामिल होते ही पश्चिम बंगाल के कद्दावर नेता और पूर्व परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी पर तीखा प्रहार किया है। टीएमसी के नेता ममता को ‘मां’ कहते हैं। इसे लेकर कटाक्ष करते हुए उन्होंने अमित शाह की मौजूदगी में ही सभा मंच से कहा कि अगर किसी को मां कहना होगा तो मैं अपनी मां को या भारत माता को मां कहूंगा, किसी और को नहीं कहूंगा।

उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी पर तीखा प्रहार किया। उन्होंने नाम लिए बगैर कहा कि तोलाबाज (वसूली करने वाले) भतीजे को हटाना होगा। ममता बनर्जी पर सीधा हमला बोलते हुए शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि इसी मैदान में ममता बनर्जी ने कहा था कि मैं यहां दूसरे नंबर पर हूं। अधिकारी परिवार को खत्म करना होगा। आज मैं ममता बनर्जी को चेतावनी दे रहा हूं कि इस बार भी वह यहां दूसरे नंबर पर ही रहेंगी। पहले नंबर पर भाजपा होगी।

मंच पर चढ़कर अमित शाह के पैर छुए
पूर्व मेदिनीपुर में शुभेंदु अधिकारी ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष का हाथ पकड़कर मंच पर कदम रखा और ऊपर चढ़ते ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पैर छूकर प्रणाम किया। अमित शाह ने भी उन्हें उठाकर पास में खड़ा कर लिया और भाजपा का झंडा थमाया।

कोरोना होने पर अमित शाह ने किया था फोन
इस दौरान शुभेंदु अधिकारी ने खुलासा किया कि जब वह कोरोना की चपेट में आए थे, तब तृणमूल कांग्रेस से किसी ने फोन नहीं किया था। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उन्हें दो बार फोन कर उनका स्वास्थ्य हालचाल जाना था। अधिकारी ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अमित शाह आन-बान और शान हैं।

भाजपा में राजनीति करने नहीं आया
शुभेंदु अधिकारी ने भारतीय जनता पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं को आश्वस्त करते हुए कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी में राजनीति करने नहीं आया हूं। एक सामान्य कार्यकर्ता के तौर पर आया हूं और एक-एक सीढ़ी चढ़कर मैंने हमेशा राजनीति की है। अमित शाह की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि शाह हमारे बड़े भाई हैं। मुकुल रॉय ने कहा था कि अगर आत्म सम्मान है तो तृणमूल में मत रहना। बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ बंगाल सरकार ने 100 से अधिक मामले दर्ज किये हैं।

तृणमूल की स्थापना के दिनों को किया याद
उन्होंने कहा कि जब तृणमूल कांग्रेस का गठन हुआ था तब हम एनडीए का हिस्सा थे। अब एक बार फिर बंगाल में पहले स्थान पर भाजपा रहेगी। उन्होंने साफ किया कि इस बार पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी में सम्मान नहीं था, वहां रहने का कोई औचित्य नहीं था। बहुत लोगों ने मुझे विश्वासघाती कहा है लेकिन ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि बंगाल के लोगों के हित में यहां केंद्रीय योजनाओं को लागू किया जाना जरूरी है। सभा मंच से शुभेंदु अधिकारी ने भारत माता की जय के नारे लगाए। वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने भी शुभेंदु अधिकारी के समर्थन में नारेबाजी की।

अमित शाह की मौजूदगी में शुभेंदु अधिकारी ने थामा भाजपा का दामन

ममता बनर्जी के पूर्व सहयोगी और पश्चिम बंगाल के कद्दावर नेता शुभेंदु अधिकारी ने आखिरकार भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है। शनिवार को पूर्व मेदिनीपुर में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सभा मंच पर शुभेंदु ने भाजपा की सदस्यता ली। उनके साथ पार्टी के 10 अन्य विधायकों, एक सांसद और एक पूर्व सांसद ने भी भाजपा का दामन थामा है।
खास बात यह है कि पूर्व मेदिनीपुर के जनसभास्थल पर अमित शाह के पहुंचने से पहले ही शुभेंदु अधिकारी पहुंच गए थे। उन्होंने ही अमित शाह का स्वागत किया और मंच पर उन्हें शॉल ओढ़ाकर अभिवादन भी किया। शुभेंदु अधिकारी ने भाजपा के अन्य नेताओं मुकुल रॉय, लॉकेट चटर्जी, कैलाश विजयवर्गीय समेत अन्य नेताओं से भी बात की।
शुभेन्दु के साथ भाजपा में शामिल होने वाले नेताओं में सांसद सुनील मंडल, (बर्दवान पूर्व ) व पूर्व सांसद
दशरथ तिर्की के अलावा विधायक तापसी मंडल (हल्दिया) ,पूर्व क्रिकेटर व तृणमूल विधायक अशोक डिंडा (तमलुक), सुदीप मुखर्जी (पुरुलिया), सैकत पांजा, (बर्दवान), शीलभद्र दत्ता (बैरकपुर) , दीपाली बिस्वास, (गाज़ोल), सुकरा मुंडा (नागराकाटा), श्यामापद मुखर्जी, (बिष्णुपुर), बिस्वजीत कुंडू (कालना) तथा बनश्री माइती, (कांथी उत्तर) शामिल हैं। इनमें तापसी मंडल के अलावा अन्य सभी तृणमूल कांग्रेस विधायक शामिल हैं।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two + 11 =