7 वीं बार नीतीश कुमार ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, मंत्रिमंडल में कई नए चेहरे

16/11/2020,8:59:32 PM.

 

पटना:  बिहार विधानसभा चुनाव जीतने के बाद सोमवार को एनडीए की नई सरकार का गठन हो गया है। नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है।

राज्यपाल फागू चौहान ने नीतीश कुमार को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। वे बिहार के 7वीं बार मुख्यमंत्री बने हैं।इस मंत्रिमंडल में कई नये चेहरे शामिल किये गये हैं । बिहार में पहली बार दो उपमुख्यमंत्री बनाए गए हैं और दोनों ही भाजपा कोटे से हैं । उपमुख्यमंत्री के रुप में तारकिशोर प्रसाद और उपनेता रेणु देवी ने शपथ ली है।

इस मौके पर गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद थे। उधर राजद ने शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार कर दिया । समारोह में तेजस्वी यादव शामिल नहीं हुए जबकि कांग्रेस पार्टी ने भी इस शपथग्रहण समारोह का बहिष्कार किया है।

तारकिशोर प्रसाद (उपमुख्यमंत्री)
भाजपा कोटे से तारकिशोर प्रसाद ने बिहार के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। चौथी बार कटिहार से जीते तारकिशोर उपमुख्यमंत्री बनाए गए हैं।

रेणु देवी (उपमुख्यमंत्री)
भाजपा की बेतिया से विधायक रेणु देवी ने मंत्री पद की शपथ ली। वे उपमुख्यमंत्री बनाई गयी हैं । वह 2005 से 2009 तक नीतीश सरकार में मंत्री रह चुकी हैं। वर्तमान में भाजपा विधायक दल की उपनेता बनाई गई हैं।

विजेंद्र यादव (मंत्री)
सुपौल से जदयू विधायक बिजेंद्र यादव ने मंत्री पद की शपथ ली। पिछली सरकार में ऊर्जा मंत्री रह चुके हैं। अब तक 8 बार विधायक रहे हैं। 1990 से लगातार जीतते आ रहे हैं। जेपी आंदोलन से उन्होंने राजनीति की शुरुआत की थी। लालू यादव की कैबिनेट में भी मंत्री रह चुके हैं।

विजय चौधरी (मंत्री)
जदयू के सरायरंजन से विधायक विजय चौधरी ने मंत्री पद की शपथ ली। नीतीश के करीबी नेताओं में गिने जाते हैं। पिछली सरकार में वे विधानसभा के अध्यक्ष थे। चौधरी छह बार विधायक बन चुके हैं।

मुकेश सहनी (मंत्री)
बॉलीवुड के सेट डिजाइनर से नेता बने मुकेश सहनी भी बिहार सरकार में मंत्री बने हैं । विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख सहनी ने सिमरी बख्तियारपुर से चुनाव लड़ा था मगर वे हार गए । वीआईपी ने 11 में से 4 सीटों पर जीत दर्ज की है, इसी वजह से इन्हें मंत्री बनाया गया है।

संतोष सुमन (मंत्री)
पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के पुत्र विधान पार्षद संतोष सुमन को मंत्री की शपथ दिलायी गई है। ये हम पार्टी की संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं। 2018 से बिहार विधान परिषद के सदस्य हैं। 2015 में कुटंबा से चुनाव लड़े थे मगर इनकी हार गई थी।

शीला मंडल (मंत्री)
फुलपरास से विधायक शीला मंडल को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई। उन्होंने कांग्रेस के कृपानाथ पाठक को चुनाव में शिकस्त दिया है।

मेवालाल चौधरी (मंत्री)
तारापुर विधानसभा सीट से जदयू विधायक मेवालाल चौधरी ने मंत्री पद की शपथ ली। बिहार एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर रह चुके हैं।

अशोक चौधरी (मंत्री)

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और इस समय जदयू के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी को भी मंत्री पद की शपथ दिलायी गई। 2018 में कांग्रेस छोड़कर जदयू में शामिल हुए थे अशोक चौधरी। पिछली सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। अभी ये किसी सदन के सदस्य नहीं हैं।

राम सूरत राय (मंत्री)
मुजफ्फरपुर की औराई सीट से राम सूरत राय नीतीश सरकार में मंत्री बने हैं । सीपीआईएमएल उम्मीदवार आफताब आलम को हराकर सदन पहुंचे राय को मंत्री पद की शपथ दिलायी गई। 2015 में ये चुनाव हार गए थे।

जीवेश मिश्रा (मंत्री)
दरभंगा के जाले के विधायक जीवेश मिश्रा ने मंत्री पद की शपथ ली। उन्होंने कांग्रेस के मशकूर अहमद को मात दी है । 2015 में भी इस सीट से जीते थे। पाग पहने जीवेश मिश्रा ने मैथिली में शपथ ली।

रामप्रीत पासवान (मंत्री)
राजनगर सीट से विधायक रामप्रीत पासवान भी नीतीश सरकार में मंत्री बने हैं । राजद के रामावतार पासवान को हराकर सदन पहुंचे हैं। रामप्रीत पासवान ने मैथिली में शपथ ली।

अमरेंद्र प्रताप सिंह (मंत्री)
भाजपा के आरा से विधायक अमरेंद्र प्रताप सिंह ने मंत्री पद की शपथ ली। पांचवी बार इस सीट से जीते हैं। 2012 से 2015 डेप्युटी स्पीकर भी रह चुके हैं। इनके दादा सरदार हरिहर सिंह बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इनका पैतृक गांव डुमरांव अनुमंडल का चौगाईं है।

मंगल पाडेय (मंत्री)
भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पिछली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रह चुके मंगल पांडेय को इस मंत्री पद की शपथ दिलायी गई। इनको पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का करीबी माना जाता है।

हिन्दुस्थान समाचार /मुरली /विभाकर

Submitted By: Edited By: Anil Vibhakar Published By: Anil Vibhakar at Nov 16 2020 6:59PM

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 2 =